Saturday , June 23 2018
Loading...

अब शेयर मार्केट में उतर सकती है एयर इंडिया

एयर इंडिया की 76 प्रतिशत रणनीतिक हिस्सेदारी बेचने के प्रस्ताव पर कोई लिवाल नहीं मिलने के बाद गवर्नमेंट अब कर्ज में डूबी इस कंपनी को शेयर मार्केट में सूचीबद्ध करने पर विचार कर रही है.एक सरकारी सूत्र ने बुधवार को यह बात कही. सूत्र के मुताबिक विभिन्न विकल्पों पर विचार हो रहा है, जिसमें कंपनी को मार्केट में सूचीबद्ध करने की आसार भी शामिल है. कंपनी को सूचीबद्ध करने से जहां पूंजी की उगाही होगी, वहीं गवर्नमेंट का नियंत्रण भी बना रहेगा.
Image result for अब शेयर मार्केट में उतर सकती है एयर इंडिया

कंपनी को सूचीबद्ध करने पर इसलिए भी विचार हो रहा है क्योंकि खबरों के मुताबिक विनिवेश पश्चात कंपनी में गवर्नमेंट द्वारा 24 प्रतिशत हिस्सेदारी बरकरार रखा जाना संभवित खरीदारों के लिए चिंता का विषय है. एयर इंडिया की प्रस्तावित विनिवेश योजना के तहत करीब 33,000 करोड़ रुपये का कर्ज कंपनी पर रह जाएगा. एयर इंडिया पर मार्च 2017 तक करीब 50,000 करोड़ रुपये का कर्ज था. एजेंसी

स्वदेशी जागरण मंच का सूचीबद्ध करने पर जोर
एयर इंडिया के विनिवेश प्रस्ताव का कंपनी के कर्मचारियों के विभिन्न यूनियन विरोध कर रहे हैं.आरएसएस से जुड़ा स्वदेशी जागरण मंच (एसजेएम) कंपनी का प्रथम सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) लाने पर जोर दे रहा है. एयर इंडिया के लिए बोली (ईओआई) जमा करने की आखिरी तारीख बीतने  कोई लिवाल नहीं मिलने के तुरंत बाद एसजेएम के सह-संयोजक अश्वनी महाजन ने बोला था कि एयर इंडिया को बचाने  इसके सक्षम संचालन की आवश्यकता है.

उन्होंने एक ट्वीट में बोला था कि इसे विदेशी धन पतियों से बचाने, संचालकों की गोलबंदी से बचाने, नौकरशाही को दूर हटाकर सक्षम प्रबंधन लाने  इसे एक राष्ट्रीय विमानन कंपनी बनाए रखने की आवश्यकता है. यह सभी कुछ रणनीतिक बिक्री से नहीं, बल्कि आईपीओ लाने से होगा.

Loading...