X
    Categories: नौकरी

रेलवे 11,000 से अधिक पदों को समाप्त करने का लक्ष्य

रेलवे बोर्ड ने वित्त साल 2018-2019 में रेलवे के विभिन्न जोनों में 11,000 से अधिक बेकार पदों को समाप्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया है बोर्ड ने इस विषय में सभी महाप्रबंधकों को लेटर लिखा है अलावा बोझ हटाने की वार्षिक कवायद के तहत बोर्ड प्रौद्योगिकी , कार्यशैली में बदलावों  अतिरिक्तता के मद्देनजर अपने कर्मचारियों की संख्या की समीक्षा करता है

इस वर्ष 11,040 पद ‘ लौटाए जाने योग्य ’ पद के रूप में चिह्नित किए गए हैं जो या तो लंबे समय से खाली रहे हैं या फिर प्रौद्योगिकी उन्नयन के चलते उनकी अब आवश्यकता नहीं रह गयी है पिछले वर्ष ऐसे पदों की संख्या करीब 10,000 थी लेटर के अनुसार उत्तर रेलवे  दक्षिण रेलवे से 1500-1500, पूर्वी रेलवे से 1100  मध्य रेलवे से 1000 पद समाप्त करने को बोला गया है

Loading...

रेलवे के एक ऑफिसर ने कहा, ‘हर वर्ष जोनल रेलवे को पदों के कार्य का विश्लेषण करने के बाद लौटाने योग्य पदों की पहचान करने का लक्ष्य दिया जाता है कुछ जोन लक्ष्य को पूरा कर लेते हैं , कुछ आंशिक रूप से करते हैं , कुछ नहीं कर पाते हैं लेकिन यह कवायद जरूरी है क्योंकि लौटाये जाने योग्य पदों में शामिल पद नयी संपदाओं के वास्ते महत्वपूर्ण सुरक्षा श्रेणी पद तैयार करने के लिए प्रयोग किए जाते हैं ’

loading...

भारतीय रेलवे में फिल्हाल 13 लाख 40 हजार कर्मचारी हैं  उसके कार्यशील व्यय का करीब आधा भाग कर्मचारियों की तनख्वाह पर खर्च होता है रेलवे के पुनर्गठन पर विवेक देबरॉय समिति ने सिफारिश की थी कि रेलवे कर्मचारियों के विषय में तर्कसांगिकता लाए , यानी कर्मचारियों को अधिक कार्यकुशल ढंग से तैनात किया जाए  आवश्यकता पड़ने पर उनकी संख्या घटाए

Loading...
News Room :

Comments are closed.