Monday , August 20 2018
Loading...
Breaking News

अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा के लिए सेना, जम्मू व कश्मीर पुलिस के अतिरिक्तअद्धसैनिक बलों की 200 कंपनियां तैनात की जाएंगी. इनमें से 166 कंपनियां केंद्र गवर्नमेंट की ओर से भेजी जा रही हैं. एक कंपनी में 135 सुरक्षा कर्मी होते हैं. इसके साथ केंद्रीय सुरक्षा बल जम्मू व कश्मीर में तैनात बटालियनों से भी कुछ कंपनियों को यात्रा ड्यूटी पर भेजेगा.

Loading...

Image result for अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

28 जून से प्रारम्भ हो रही यात्रा के सिक्योरिटी प्लान के तहत राज्य गवर्नमेंट ने केंद्र से 22 हजार 400 अतिरक्त सुरक्षाकर्मी मांगे थे. केंद्र गवर्नमेंट ने भी इसे मंजूर करते हुए अतिरक्त सुरक्षाकर्मियों को जम्मू व कश्मीर भेजने की प्रक्रिया जल्द प्रारम्भ करने के आदेश दे दिए हैं. सीमा पार से दशाबिगाड़ने की साजिश को देखते हुए राज्य गवर्नमेंट यात्रा की सुरक्षा को गंभीरता से ले रही है.

loading...

रमजान में प्रयत्न विराम के दौरान कश्मीर में आतंकवादी हमलों में तेजी आई है. ऐसे दशा में जम्मू व कश्मीर पुलिस ने यात्रा की सुरक्षा को लेकर 225 अलावा कंपनियों की आवश्यकता बताई थी, जिनमें महिला बटालियनें भी शामिल हैं. बेहतर समन्वय से अमरनाथ यात्रा की तीन चक्र सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी. करीब चालीस हजार सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे. पहले चक्र में जम्मू व कश्मीर पुलिस औरदूसरे चक्र में सुरक्षा बल तैनात रहेंगे. तीसरे चक्र में सेना यात्रा मार्ग से सटे इलाकों के साथ बाबा अमरनाथ की पवित्र गुफा के आसपास की पहाडि़यों पर तैनात रहेगी.

बुलाई जा सकती हैं  भी कंपनियां

ईद के बाद अमरनाथ यात्रा को सफल बनाने के लिए राज्य गवर्नमेंट की बैठकें प्रारम्भ हो जाएंगी.सुरक्षा को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह पहले ही श्रीनगर में एकीकृत मुख्यालय की मीटिंग कर चुके हैं. जम्मू और श्रीनगर में यात्रा को लेकर सेना, सुरक्षा बलों, नागरिक प्रशासन की कोर ग्रुप की बैठकें भी होंगी. दशा को देखते हुए  कंपनियां भी बुलाई जा सकती हैं.

केंद्र के संपर्क में है राज्य सरकार

जम्मू-कश्मीर के उपमुख्यमंत्री कविंद्र गुप्ता का कहना है कि हम अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के प्रति गंभीर हैं. इस विषय में हम केंद्र गवर्नमेंट से भी लगातार संपर्क में हैं. केंद्र की ओर से 22 हजार 400 सुरक्षा कर्मी भेजे जा रहे हैं. राज्य गवर्नमेंट भी अपनी ओर से पूरा बंदोबस्त करेगी. सीसीटीवी कैमरे, डाग स्क्वायड के साथ सेना, सुरक्षा बलों की क्विक रिएक्शन टीमें औरमाउंटेन रेस्क्यू टीमें यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करेंगी.

Loading...
loading...