Saturday , December 15 2018
Loading...

रेलवे ने यात्रियों की हर शिकायत के लिए अलग वाट्सएप ग्रुप बनाने का किया फैसला

आए दिन ट्रेनों में एसी फेल होने, बेडरोल की गंदगी, ट्रेन और स्टेशन में गंदगी के साथ घटों की लेट लतीफी को दूर करने के लिए रेलवे अब नई कवायद करने जा रहा है. रेलवे ने यात्रियों की हर शिकायत के लिए अलग वाट्सएप ग्रुप बनाने का फैसला किया है, ताकि उसका संज्ञान लिया जा सके. इन ग्रुप की निगरानी जोनल स्तर पर उससे संबंधित सीनियर ऑफिसर करेंगे.

Image result for रेलवे

दरअसल, गर्मी बढ़ते ही ट्रेनों के एसी फेल होने की घटनाएं बढ़ी हैं. साथ ही इन दिनों लंबी दूरी की ट्रेनों के देर से चलने से भी यात्री परेशान हैं. लखनऊ सहित कई स्टेशनों पर पड़ रहे अधिक वजन के चलते ट्रेनें आउटर पर दो से तीन घटे तक रुक जाती हैं. इसके अतिरिक्त यात्रियों को ट्रेनों के रसोईयान से मिलने वाले खाने की गुणवत्ता जहा संतोषजनक नहीं रहती, वहीं दोगुना दाम वसूलने की शिकायतें भी रहती हैं. इन दिनों ऑन बोर्ड हाउस कीपिंग योजना के तहत ट्रेनों के शौचालय भी साफ नहीं हो पा रहे हैं. स्टेशन परिसर में भी गंदगी से यात्री बेहाल हैं. पिछले दिनों देखा गया है कि ट्विटर पर भी हर शिकायत को दूर करने के लिए सभी अनुभाग ने कार्रवाई नहीं की है. रेलवे अधिकारी अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा रहे हैं. इसे देखते हुए ही उत्तर रेलवे के लखनऊ, मुरादाबाद, अंबाला, फिरोजपुर  दिल्ली रेल मंडल में हर शिकायत के लिए संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करने का आदेश सीआरबी अश्रि्वनी लोहानी ने दिया है.

Loading...
ऐसे होगी कार्रवाई की व्यवस्था

इस नयी व्यवस्था के तहत हर शिकायत के लिए अलग-अलग विभागीय वाट्सएप ग्रुप बनेगा. इसमें निचले स्तर पर कार्य करने वाले कर्मचारी से लेकर मंडल  जोनल तक के ऑफिसर भी जुड़ेंगे.रेलकर्मी फोटो सहित हर शिकायत की रिपोर्ट इसी ग्रुप में रोज करेगा. जिसपर संबंधित मंडल स्तर के ऑफिसर ने कितनी देर में कार्रवाई की है, इसकी रिपोर्ट भी दी जाएगी. ऐसे में यदि किसी ऑफिसर ने कार्रवाई में देरी की तो ग्रुप में शामिल सीनियर ऑफिसर त्वरित एक्शन लेंगे.

loading...
Loading...
loading...