Tuesday , September 25 2018
Loading...
Breaking News

एनआरआई युवकों के शादी कर अपना सब कुछ खो चुकी युवतियां

बेहतर भविष्य के लिए एनआरआई युवकों के शादी कर अपना सब कुछ खो चुकी  युवतियां न तो अपने परिवार की रही न ही ससुराल की. दरदर भटकने को मजबूर एनआरआई युवकों द्वारा तलाक  विवाह के नाम पर धोखाधड़ी की शिकार पीड़ित स्त्रियों ने अपने हक की लड़ाई में हिंदुस्तान गवर्नमेंट के विदेश मंत्रालय से इस विषय में अच्छा कानून बनाने को लेकर जवाब मांगा है.
Image result for एनआरआई युवकों के शादी 
अधिकांश मामलों में पति विवाह के कुछ ही दिनों बाद विदेश फरार हो गए  पत्नियों को उनकी गैर मौजूदगी में ससुराल वालों ने घर से बाहर निकाल दिया. अपनी आवाज को अपना हथियार बनाने के लिए राष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों की महिलाएं एकजुट हो रही हैं. इन स्त्रियों में कुछ ऐसी भी महिलाएं शामिल हैं जिन्हें इंडियन युवकों ने प्रताड़ित किया.

बेहतर भविष्य के सपने को लेकर एनआरआई युवकों से विवाह करने के बाद धोखे का शिकार हुई 200 से अधिक स्त्रियों की आवाज उठाते हुए प्रेस क्लब में सोमवार को प्रेसवार्ता आयोजित की गई. इस मौके पर पंजाब, उत्तर-प्रदेश, दिल्ली, बरेली, लखनऊ समेत अन्य जगहों की पीड़िताओं ने एनआरआई पतियों की घटिया करतूतों की दर्दभरी कहानी बयां की.

इस मौके पर पंजाब को सोशल एक्टिविस्ट हरप्रीत कौर ने बताया गया अकेले पंजाब में एनआरआई स्त्रियों से विवाह करने के बाद उन्हें धोखे से छोड़कर फरार होने  धोखे से विदेशों की अदालतों से एक पक्षीय तलाक लेने से जुड़ी 27 हजार शिकायतें दर्ज हुई हैं, लेकिन इन शिकायत पर पुलिस ने अभी तक क्या कार्रवाई की, इसका किसी के पास कोई जवाब नहीं है. वहीं एनआरआई युवकों  उनके परिवारों द्वारा प्रताड़ित स्त्रियों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को कई बार शिकायतें दीं, लेकिन उनका कोई उत्तर नहीं मिला.

Loading...

लखनऊ की जुबी जैदी ने बताया कि एनआरआई युवकों द्वारा तलाक  धोखा देने के मामले में विदेश मंत्रालय के हस्तक्षेप से आरोपियों के विरूद्ध कानूनी कार्रवाई की मांग को लेकर 3228 और शिकायतें दर्ज हुईं, लेकिन मंत्रालय ने कितनी शिकायतों को सुलझाया, इसका कोई ब्यौरा नहीं है. पीड़िताओं ने मांग की कि दहेज के लिए मासूम लड़कियों की जिन्दगीसे खिलवाड़ करने वाले एनआरआई युवकों के विरूद्ध ठोस कदम बनाया जाए, ताकि उन्हें विदेशों से हिंदुस्तान लाकर उन्हें सजा दी जा सके.

loading...

शादी के नाम पर मामा ने भांजी को बेचा      

लखनऊ की रहने वाली जुबी जैदी ने बताया कि उनकी विवाह उनके मामा ने बेहतर भविष्य की बाते कहकर यूएई निवासी सयेद अली मुर्तजा से 10 अप्रैल 2014 को करवाई थी, लेकिन विवाह के बाद उन्हें पता लगा कि उनका पति पहले से शादीशुदा था  पहली विवाह को 10 वर्ष हो चुके थे. इसके बाद उनके साथ जानवरों से भी बद्तर सलूक किया गया.

उन्होंने बोला कि उनके साथ मारपीट की जाती थी. चार वर्ष पहले उन्हें एक कमरे में तीन दिन के लिए कैद कर दिया गया  खाना भी नहीं दिया गया. इसी बीच घर के चौकीदार को उनपर दया आ गई  उसने उनकी वहां से भागने में मदद की. उसके बाद से चार वर्षों से लोकल पुलिस थाने से लेकर मंत्रालय तक के चक्कर काट चुकी हैं, लेकिन गवर्नमेंट ने भी उनकी कोई मदद नहीं की. उन्होंने अपने पति के विरूद्ध हिंदुस्तान गवर्नमेंट से हस्तक्षेप की मांग की है. विवाह से पहले वह डिप्टी रजिस्ट्रार के पद पर कार्य करी थीं. वह न्यान की मांग को लेकर चार वर्षों से सुषमा स्वराज से मिलने की प्रयास कर रही हैं, लेकिन उनकी शिकायत का कभी कोई जवाब नहीं दिया गया.

शादी डॉट कॉम के संबंध ने किया बर्बाद     

दिल्ली निवासी शिवाली ने बताया कि 27 फरवरी 2017 को उनकी विवाह हुई. इसके 40 दिन बाद उनका पति कनाडा चला गया  ससुराहल वाले उन्हें प्रताड़ित करने लगे. उन्होंने बताया कि 6 मार्च 2018 को उनके सुसराल वालों ने उन्हें धोखे से घर से बाहर निकाल दिया  वापस घर में घुसने नहीं दिया. उन्होंने बताया कि विवाह डॉट कॉम के जरिए उनकी विवाहहुई थी. विवाह से पहले वह भी कनेडियन कंपनी में कार्य करती थीं.

विदेश ले जाने के लिए मांगा दहेज

दिल्ली निवासी पूनम ने बताया कि उनकी विवाह नोएडा निवासी युवक से हुई थी. विवाह के वक्त लड़की के परिजनों से 6 लाख रुपए कैश मांगा गया  उसके 40 दिन बाद पति कनाडा चला गया  ससुराल वालों ने उसे कनाडा भेजने के लिए उसके परिवार से फिर से रुपयों की मांग की. इसके बाद पीड़िता को घर से बाहर निकाल दिया गया. पीड़िता ने दिल्ली पुलिस में एफआईआर दर्ज करवा रखी है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई.

फीजी की महिला को इंडियन ने दिया धोखा

फिजी निवासी नताशा ने बताया कि सात वर्ष पहले वह बिजनेस के सिलसिले में फिजी से चांदनी चौक आई थी  उसी दौरान उसकी मुलाकात प्रताप सिंह से हुई थी. उसके बाद प्रताप सिंह ने उन्हें अपने प्यार के जाल में फंसाकर पांच वर्षों 47 लाख रुपए ले लिए  इसी बीच उन्हें पता लगा कि प्रताप दूसरी लड़कियों को भी विवाह करने के झांसे दे रहा था. इस मामले मेंपीड़िता ने र्ईस्ट दिल्ली की डीसीपी नुपूर प्रसाद, एसीपी,  स्वाति मालीवाल समेल अन्य लोगों को शिकायते दीं हैं, लेकिन उनकी शिकायतों पर कोई जवाब नहीं दिया गया है. वह हिंदुस्तान के कानून व्यवस्था को लेकर बेहद आहत हैं  मांग कर रही हैं आरोपी के विरूद्ध कार्रवाई की जाए. इस विषय में उन्होंनें आरोपी के विरूद्ध आनंद विहार थाने में बलात्कार की धाराओं समेत अन्य धाराओं के तहत एफआईआर भी दर्ज करवा रखी है, लेकिन आरोपी खुलेआम घूम रहा है.

कैलिफॉर्निया में लड़ रही हक की लड़ाई    

एनआरआई से विवाह करने के बाद जसमीत कौर को उसके पति ने कैनिफॉर्निया कानून के तहत तलाक देने की प्रयास की, लेकिन पीड़िता ने उसे रुकवा दिया. अब पीड़िता कैलिफॉर्निया में रहकर अपने पति के विरूद्ध केस लड़ रही है. आरोपी ने पीड़िता के 10 वर्षीय बेटे को भी छीन लिया है. पीड़िता का परिवार बरेली का है  यहां उसके हक की लड़ाई के लिए विदेश मंत्रालय से उचित कार्रवाई की मांग कर रहा है.

Loading...
loading...