X
    Categories: पोल खोल

एमपी में कांग्रेस पार्टी मायावती से करेगी गठबंधन

इस वर्ष के अंत में मप्र समेत राष्ट्र के चार राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं कांग्रेस पार्टीने इन चुनावों को देखते हुए अभी से तैयारी प्रारम्भ कर दी है इन चारों राज्यों में कांग्रेस पार्टी अपने लिए मौका देख रही है मप्र, राजस्थान  छत्तीस गढ़ में बीजेपी गवर्नमेंट है इसमें मप्र  छत्तीस गढ़ में 15 वर्ष से बीजेपी सत्ता पर काबिज है यहां एंटी इनकंबेंसी एक मु्द्दा रहेगा ऐसे में कांग्रेस पार्टी इन राज्यों में अपने लिए कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती है

मप्र में कांग्रेस पार्टी बीजेपी को सत्ता से बाहर करने के लिए हर संभव प्रयास में जुट गई है हाल के चुनावों में साझेदारी के उम्मीदवार को जिस तरह से जीत मिली है, उसे देखते हुए वह सभी राज्यों में साझेदारी बनाना चाहती है इसकी आरंभ उसने मप्र से कर दी है मप्र में वह इस चुनावों में बीएसपीसे साझेदारी करेगी इस बात की पुष्टि अब कांग्रेस पार्टी के मप्र अध्यक्ष कमलनाथ ने कर दी हैटाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक कमलनाथ ने कहा, हमारा कोशिश साथ में लड़ने का है, जिससे वोटों में बिखराव न हो  बीजेपी को लाभ न मिले

Loading...

मप्र में कांग्रेस पार्टी सिर्फ बसपा से ही नहीं बल्कि गोंडवाना गणतंत्र पार्टी से भी साझेदारी करेगी इस पार्टी का मप्र के आदिवासी हिस्सों में अच्छी खासी पैठ है इनमें मंडला, डिंडोरी, जबलपुर छिंदवाड़ा प्रमुख हैं छिंदवाडा कमलनाथ का भी एरिया है

loading...

कांग्रेस इसलिए चाहती है गठबंधन
सभी जानते हैं कि कांग्रेस पार्टी मप्र में ये अपनी सबसे बड़ी लड़ाई लड़ रही है अगर इन चुनावों में उसे पराजय मिली तो उसका फिर सत्ता में लौटना फिल्हाल संभव नहीं होगा मप्र चुनाव समिति के प्रमुख ज्योतिरादित्य सिंधिया भी अपने चुनावी अभियान में कह रहे हैं कि अभी नहीं तो कभी नहीं इसलिए कांग्रेस पार्टी चाहती है कि वह इस बार बीजेपी को सत्ता से बेदखल कर दे

ऐसा है वोटों का गणित, इसलिए बीजेपी को टेंशन
पिछले चुनावों की बात करें तो बीजेपी को 44.8 प्रतिशत वोट मिले थे वहीं कांग्रेस पार्टी को 36.3 फीसदी वोट मिले थे बीएसपी को राज्य में 6.3 फीसदी वोट मिले थे दोनों को मिला दिया जाए तो ये आंकड़ा करीब 42.6 प्रतिशत तक पहुंच जाता है हालांकि विशेषज्ञ ये भी मानते हैं कि ये दोनों पार्टियां मिलकर 8 प्रतिशत का अंतर पाट सकती हैं

बसपा को कांग्रेस पार्टी दे सकती है 30 सीटें
अगर मप्र की बात करें तो पूरे प्रदेश में करीब 60 सीटें ऐसी हैं, जहां बीएसपी अपना असर रखती हैहालांकि कांग्रेस पार्टी उसे इन विधानसभा चुनावों में 30 सीटें दे सकती है

Loading...
News Room :

Comments are closed.