X
    Categories: उत्तराखण्ड

दो सगे भाइयों ने लुगदी से बनाया इतिहास

अल्मोड़ा के तल्ला जोशी खोला निवासी दो सगे भाइयों युवराज जोशी और यथार्थ जोशी ने पेपर मैशे (लुगदी) से 33 दिन में कुछ ऐसा बना दिया, जिससे उनका नाम इतिहास में दर्ज हो गया।
दोनों भाइयों ने महात्मा गांधी, सरदार बल्लभ भाई पटेल, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की 4.2 मीटर ऊंची प्रतिमाएं बनाकर इतिहास रच दिया है। छात्रों ने मैक्सिको में लुगदी से बनी विशाल प्रतिमाओं का रिकॉर्ड तोड़ने का दावा किया है।

ग्राफिक एरा देहरादून से बीटेक कर रहे दोनों भाइयों ने इसके लिए 750 किलो रद्दी कागज और 85 लीटर गोंद का इस्तेमाल किया।

इस उपलिब्ध के लिए मिलेगा 51 हजार रुपये का पुरस्कार

ग्राफिक एरा ने दोनों भाइयों को उनकी इस उपलिब्ध के लिए 51 हजार रुपये के पुरस्कार देने की घोषणा की है। इसके अलावा संस्थान दोनों को एमटेक और पीएचडी मुफ्त में कराएगा। इन प्रतिमाओं का लोकार्पण बृहस्पतिवार को देहरादून स्थित ग्राफिक एरा संस्थान में अपर सचिव दीपेंद्र कुमार चौधरी ने किया। कार्यक्रम में अल्मोड़ा से छात्रों के माता-पिता को भी आमंत्रित किया गया था।

तल्ला जोशी खोला निवासी रजनीकांत जोशी और चंपा जोशी ने बताया कि उनके दोनों बेटों युवराज और यथार्थ ने 33 दिनों में उक्त प्रतिमाएं बनाई हैं। उन्होंने दावा किया कि इससे पहले मैक्सिको में लुगदी से विशाल प्रतिमाएं बनाई गई थीं, लेकिन दोनों छात्रों ने मैक्सिको के पुराने रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया है।

Loading...

रजनीकांत जोशी ने बताया कि बच्चों की उपलब्धि पर ग्राफिक एरा ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. कमल घनशाला ने दोनों छात्रों को 51 हजार रुपये नगद पुरस्कार के साथ ही एमटेक और पीएचडी स्पांसर करने की घोषणा की है। छात्रों की उपलब्धि पर पूर्व पालिकाध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी आदि लोगों ने खुशी जताई है।

loading...
Loading...
News Room :

Comments are closed.