Wednesday , November 21 2018
Loading...
Breaking News

3 दिन पहले आया मॉनसून

हिंदुस्तान में इस बार पिछले वर्ष के मुकाबले बेहतर बारिश होने के अनुमान है. मौसम विभाग की मानें तो इस वर्ष मानसून में पिछले वर्ष के मुकाबले ज्यादा औसत बारिश होगी. बताते चलेंकि पिछले वर्ष मानसून की बारिश का औसत 94 फीसद था जबकि इस बार 96 से 104 प्रतिशत तक औसत बारिश का अनुमान है. विभागीय भाषा में इसे LPA बोला जाता है. बता दें कि राष्ट्र में मॉनसून ने दस्तक दे दी है. केरल में समय से तीन दिन पहले ही मॉनसून पहुंच चुका है.

Image result for 3 दिन पहले आया मॉनसून

मौसम विभाग की साइट पर मॉनसून का पूर्वानुमान

Loading...

मौसम विभाग की ओर से जारी पूर्वानुमान को देखें तो तमिलनाडु  केरल में मॉनसून 1 जून तक राज्य के अधिकतर हिस्से में पहुंच चुका होगा. साथ ही उत्तर पूर्व हिंदुस्तान के भी कुछ हिस्सों को छूएगा.5 जून तक मानसून कर्नाटक, आंध्रप्रदेश को पार कर चुका होगा  उत्तर पूर्व में असम राज्य तक पहुंच जाएगा.10 जून तक मॉनसून मध्य हिंदुस्तान के इलाकों से होता हुआ उत्तर की ओर बढ़ेगा. हालांकि माना जा रहा है कि केरल में मॉनसून के पहले पहुंचने की वजह से उत्तर हिंदुस्तान में भी इस बार मानसून जल्दी पहुंचेगा.
मॉनसून की बारिश का पैमाना
मौसम विभाग की ओर से मॉनसून की बारिश की औसत पांच हिस्सों में बांटी गई है. जिसमें 90 प्रतिशत बारिश को मॉनसून के लिहाज से बहुत कम आंका जाता है. जबकि 90 से 96 प्रतिशत बारिश को सामान्य से कम  96 से 104 प्रतिशत को सामान्य बारिश के तौर पर आंका जाता है. वहीं, 104-110 के आंकड़े को सामान्य से ज्यादा  110 से ज्यादा को अच्छी बारिश माना जाता है.

loading...

दो चरणों में जारी होता है मानसून का पूर्वानुमान
मौसम विभाग पूरे राष्ट्र के लिए दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून का पूर्वानुमान दो चरणों में जारी करता है.आमतौर पर मानसून जून से सितंबर के बीच आता है. मानसून के पहले चरण का पूर्वनुमान अप्रैल में दूसरे चरण का पूर्वानुमान जून में जारी किया जाता है. बताते चलें कि इस बार मानसून विभाग के पूर्वानुमान से तीन पहले ही हिंदुस्तान पहुंच गया है.

Loading...
loading...