Wednesday , October 24 2018
Loading...
Breaking News

नीतीश ने कहा- पहले मैं समर्थक था लेकिन कितनों को फायदा हुआ?

कभी नोटबंदी का समर्थन करने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसके नतीजों पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने शनिवार को एक कार्यक्रम के दौरान इसकी विफलता के लिए बैंकों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी का लाभ जितना लोगों को मिलना चाहिए था, उतना नहीं मिल पाया है।

Image result for नीतीश ने कहा- पहले मैं समर्थक था लेकिन कितनों को फायदा हुआ?
नीतीश ने कहा ‘मैं पहले नोटबंदी का समर्थक था पर इससे कितने लोगों को फायदा हुआ? कुछ लोग अपने नकद रुपये को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने में सफल रहे।’ उन्होंने यह बात पटना में राज्यस्तरीय बैंकर्स समिति द्वारा आयोजित समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए कही।

Loading...

मुख्यमंत्री ने कहा कि बैंक छोटे लोगों से कर्ज तो वसूल लेते हैं लेकिन उन ताकतवर लोगों का क्या जो लोन लेकर गायब हो जाते हैं। यह आश्चर्यजनक है कि उच्च अधिकारी भी इससे बेखबर रहते हैं। बैंकिंग सिस्टम में सुधार की जरूरत है। मैं आलोचना नहीं कर रहा हूं पर मैं चिंतित हूं। उन्होंने कहा कि देश की प्रगति में बैंक बड़ी भूमिका निभाते हैं। अब बैंकों का काम केवल जमा, निकासी या लोन देना ही नहीं रह गया है बल्कि एक-एक योजना के लिए बैंकों की भूमिका भी बढ़ गई है।

loading...

उन्होंने कहा कि बिहार के लोगों में कर्ज लेने की आदत ज्यादा नहीं है, जो लेना भी चाहते हैं तो उसके लिए बैंकों ने कड़े मापदंड तय कर रखें हैं। इससे लोगों को काफी परेशानी होती है। उन्होंने कहा कि देश के विकास के लिए जो धनराशि सरकार मुहैया करवाती है, उसके सही आवंटन के लिए बैंकों को सिस्टम मजबूत करना होगा। ऊपर से नीचे तक हर चीज को देखना होगा। इससे बैंकों की भूमिका दिन प्रतिदिन बढ़ेगी।

Loading...
loading...