Tuesday , November 20 2018
Loading...

सरकार ने किया आगाह, दिल्ली में बिजली संकट

दिल्ली के उर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि बिजली की मांग तेजी से बढ़ रही है, लेकिन दिल्ली-एनसीआर में थर्मल क्षमता प्लांटों में कोयले का पर्याप्त स्टॉक नहीं है.अमूमन इन प्लांटों में दो हफ्ते का स्टॉक होता है, लेकिन मौजूदा समय में एक से दो दिन का ही स्टॉक है. रेलवे से वैगन/रैक आदि कोयले की ढुलाई के लिए नहीं मिल रहे हैं. कोयला दिल्ली नहीं पहुंच रहा है. बावजूद इसके केंद्रीय कोयला और रेल मंत्री इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं.

Image result for बिजली संकट

दिल्ली सचिवालय में पत्रकार बातचीत के दौरान जैन ने बताया कि गत 17 मई को इस मामले मेंकेंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल को लेटर लिखा गया है. इसके जरिये क्षमता प्लांटों में कोयला की मौजूदा उपलब्धता के बारे में पूरी जानकारी दी गई है. दंग करने वाली बात यह है कि इस बारे में केंद्र गवर्नमेंट की ओर से गंभीर रूख अख्तियार नहीं किया गया है, न ही लेटर का जवाब मिला है. इससे आने वाले समय में बिजली संकट खड़ा हो सकता है.

Loading...

जैन ने बताया कि दिल्ली एनसीआर में बिजली संकट यानी ब्लैकआउट जैसी स्थिति पैदा हो सकती है. इस समस्या का सबसे ज्यादा सामना भी दिल्लीवासियों को ही करना पड़ेगा.

loading...
Loading...
loading...