Tuesday , September 25 2018
Loading...

मूल कैडर में भेजा गया PNB घोटाले की जांच कर रहे ऑफिसर

हीरा कारोबारी नीरव मोदी  मेहुल चोकसी से जुड़े करोड़ों रूपए के पीएनबी घोटाले की जांच की निगरानी कर रहे CBI ऑफिसर राजीव सिंह को निर्धारित समय से पहले ही उनके मूल कैडर त्रिपुरा में वापस भेज दिया गया है राजीव अभी एजेंसी में संयुक्त निदेशक हैं यह कदम ऐसे समय में उठाया गया है जब एजेंसी नीरव मोदी  चोकसी के विरूद्ध रेड कार्नर नोटिस की योजना बना रही है

Related image

कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा 23 मई को जारी एक आदेश के अनुसार CBI के तीन अन्य अधिकारियों को भी उनके मूल कैडरों में वापस भेज दिया गया है इनमें संयुक्त निदेशक नीना सिंह , डीआईजी अनीश प्रसाद  पुलिस अधीक्षक आर गोपाल कृष्ण राव शामिल हैं चारों ऑफिसरआईपीएस हैं

Loading...

नीना सिंह राजस्थान कैडर से हैं जबकि शेष तीन ऑफिसर त्रिपुरा कैडर के हैं   आदेश में बोला गया है कि नीना सिंह , राजीव सिंह  आर गोपाल कृष्ण राव को तत्काल अपने मूल कैडर में लौटना होगा जबकि प्रसाद दो जून को लौटेंगे इसमें बोला गया है कि अधिकारियों को समय से पहले लौटाने के संबंधित राज्य सरकारों के अनुरोध पर यह निर्णय किया गया है

loading...

ED ने नीरव मोदी के विरूद्ध आरोपपत्र दाखिल किया
प्रवर्तन निदेशालय ने दो अरब डालर के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) धोखाधड़ी मामले में नीरव मोदी  उसके सहयोगियों के विरूद्ध पहला आरोपपत्र दाखिल किया है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.अधिकारियों के अनुसार मनी लांड्रिंग निरोधक कानून (पीएमएलए) की विभिन्न धाराओं के तहत करीब 12,000 पृष्ठ का आरोपपत्र या अभियोजन शिकायत विशेष न्यायालय के समक्ष दायर किया गया.

आपराधिक शिकायत केवल नीरव मोदी , उनके सहयोगियों तथा कंपनियों के विरूद्ध दायर की गई.ऐसी आसार है कि निदेशालय नीरव मोदी के मामा  जौहरी मेहुल चोकसी तथा उसकी कंपनियों के विरूद्ध दूसरा आरोपपत्र दाखिल करेगा.

आरोपपत्र में जांच एजेंसी द्वारा 14 फरवरी को दर्ज प्राथमिकी के बाद नीरव मोदी तथा उसके सहयोगियों के विरूद्ध पिछले कुछ महीनों में की गई कुर्की का ब्योरा है. उल्लेखनीय है कि CBI ने इस महीने की शुरूआत में दो आरोपपत्र दाखिल किए थे.

फरार है नीरव मोदी
नीरव मोदी फरार है  मामले में अबतक प्रवर्तन निदेशालय की जांच में शामिल नहीं हुआ है. उसके तथा अन्य के विरूद्ध विभिन्न आपराधिक कानूनों के तहत जांच चल रही है. इन सभी पर पीएनबी के कुछ अधिकारियों के साथ साठगांठ कर सार्वजनिक एरिया के बैंक के साथ 13,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है.

ईडी का आरोपपत्र मनी लांड्रिंग तथा धोखाधाड़ी में नीरव मोदी एवं अन्य की किरदार पर केंद्रित है.नीरव मोदी  चोकसी के विरूद्ध मामला दर्ज होने से पहले दोनों राष्ट्र छोड़कर फरार हो गए

Loading...
loading...