Saturday , May 26 2018
Loading...

चीफ जस्टिस को सजा सुना देने वाले जस्टिस कर्णन बने राजनेता

कलकत्ता न्यायालय के पूर्व जज सीएस कर्णन ने बुधवार को अपना राजनीतिक दल बनाने की घोषणा की  बोला कि उनका दल अगले आम चुनावों में केवल महिला उम्मीदवारों को मुकाबले में उतारेगा.उन्होंने वाराणसी में भी अपनी एंटी-करप्शन डायनामिक पार्टी का उम्मीदवार पीएम नरेंद्र मोदी के सामने उतारने की घोषणा की है. हालांकि वहां भी कोई महिला उम्मीदवार ही उतारी जाएगी.
Image result for चीफ जस्टिस को सजा सुना देने वाले जस्टिस कर्णन बने राजनेता

बता दें कि जस्टिस कर्णन 8 मई 2017 को उस समय विवादों में आए थे, जब उन्होंने खुद को अवमानना के मामले में तलब करने पर अपनी न्यायालय में सुप्रीम न्यायालय के तत्कालीन चीफ जस्टिस जेएस खेहर  अन्य सात जजों को एससी/एसटी एक्ट के तहत 5 वर्ष के सख्त श्रम वाले कारावास की सजा सुना दी थी.

अगले दिन सुप्रीम न्यायालय ने उन्हें 6 महीने की सजा सुनाई थी, जिसके बाद वे फरार हो गए थे. बाद में उनके रिटायरमेंट के बाद 21 जून को कोलकाता पुलिस ने उन्हें अरैस्ट कर कारागार भेज दिया था.जस्टिस कर्णन को कारागार से 20 दिसंबर को रिहा किया गया था.

अपनी पार्टी के गठन की घोषणा करते हुए जस्टिस कर्णन ने बुधवार को कहा, मेरी पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव में भाग लेगी. हम सीटों की संख्या बाद में तय करेंगे, लेकिन केवल महिला उम्मीदवारों को ही चुनाव लड़ाया जाएगा.

जस्टिस कर्णन यहां कुछ मानवाधिकार संगठनों की तरफ से आयोजित प्रोग्राम में शिरकत कर रहे थे.उन्होंने कहा, हमने मुख्य चुनाव आयुक्त से अपनी पार्टी के पंजीकरण का आग्रह किया है. उन्होंने बोला कि मेरा लक्ष्य राष्ट्र से करप्शन को मिटाना है.

Loading...