Saturday , June 23 2018
Loading...

‘चोर दरवाजे’ से सरकार बनाने में कौन आगे

कर्नाटक चुनाव के नतीजों के बीच कांग्रेस-जेडीएस ने नया रोमांच पैदा कर दिया है। और इस बीच मौका मिल गया है विपक्ष की दूसरी पार्टियों को की वो गोलबंद होकर बीजेपी को घेर सकें। कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस के साथ आने की खबर से बीजेपी भी तिलमिला गई है। सूबे में सबसे बड़ी पार्टी बनने के बावजूद उसे कुर्सी खिसकने का डर सता रहा है। कांग्रेस-जेडीएस पर निशाना साधते हुए बीजेपी ने कहा कि पीछे के दरवाजे से कांग्रेस सत्ता की चाबी पाना चाहती है।

Related image

नीतीश जी की मदद से बिहार में बहुमत का चीरहरण और लोकतंत्र का जनाजा निकाल चोर दरवाज़े से सरकार में बैठ मलाई चाट रहे भाजपाई कर्नाटक के मामले में उच्चकोटि का प्रवचन किसे बाँट रहे है?

यह भी पढ़ें:   परीक्षा में नकल रोकने का गजब तरीका

उधर तेजस्वी के बाद तेज प्रताप ने भी ट्वीट कर भाजपा को कटघरे में लिया है। उन्होंने सवाल पूछते हुए लिखा कि बिहार, गोवा और मणिपुर में लोकतंत्र का अपहरण नहीं हुआ था क्या?

Loading...

तो ऐसे में बीजेपी को पीछे का दरवाजा याद दिलाने वाले भी चुप नहीं रहे। बिहार से तेजस्वी यादव ने एक ट्वीट कर बीजेपी पर हमला बोल दिया। राजद नेता व लालू के बेटे तेजस्वी ने कहा है कि क्या बिहार में बीजेपी को बहुमत मिला था? क्या बिहारियों ने बीजेपी को बहुत बुरी तरह नहीं हराया था? ऐसे नीतीश की मदद से बिहार में बहुमत का चीरहरण और लोकतंत्र का जनाजा निकाल चोर दरवाजे से सरकार में बैठ मलाई चाट रहे भाजपाई कर्नाटक के मामले में उच्चकोटि का प्रवचन किसे बांट रहे है?

20 राज्यों में अपनी सत्ता चमकाने वाली बीजेपी खुद साम, दाम, दंड, भेद की नीति अपनाती देखी गई है। लेकिन कर्नाटक में उसके खिलाफ बन रहे समीकरण पर पार्टी कांग्रेस को कोस रही है। बहरहाल अभी सरकार बनाने पर कोई नतीजा साफ नहीं हुआ है, ऐसे में इंतजार करना होगा कि आखिर सियासी ऊंट किस करवट बैठता है। क्या जेडीएस का असल में कांग्रेस से समझौता हो पाता है?

Loading...