Friday , May 25 2018
Loading...

महंगे होने लगे सरकारी बैंकों के लोन

जमा पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी के बाद अब बैंकों ने लोन पर ब्याज दरों में भी बढ़ोतरी प्रारम्भ कर दी है. सार्वजनिक एरिया की आईडीबीआई बैंक ने एमसीएलआर में पांच से 10 आधार अंकों की बढ़ोतरी की है. इससे पहले सार्वजनिक एरिया के ही इलाहाबाद बैंक  बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने भी एमसीएलआर में बढ़ोतरी की थी.
Image result for महंगे होने लगे सरकारी बैंकों के लोन

आईडीबीआई बैंक की तरफ से यहां जारी एक बयान के मुताबिक, इसने एक वर्ष के लिए एमसीएलआर की दरों को बढ़ाकर 8.65 प्रतिशत कर दिया है. बैंक ने दो वर्ष के एमसीएलआर दर को बढ़ाकर 8.70 प्रतिशत  तीन वर्ष के एमसीएलआर दर को 8.8 प्रतिशत कर दिया है. यह बढ़ोतरी 12 मई से प्रभावी हो गई है. इलाहाबाद बैंक ने इसी महीने की पहली तारीख से अपने एमसीएलआर में बढ़ोतरी की है, जबकि बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने पिछले हफ्ते इसकी घोषणा की.

क्या है एमसीएलआर 
मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट या एमसीएलआर वह दर है, जिस पर बैंक अपनी खज़ाना जुटाने की लागत के हिसाब से लोन देते हैं. अगर बैंक को सस्ते ब्याज दर पर पैसा मिलता है, तो वह ग्राहकों को सस्ता लोन देता है. अगर उसे महंगे दर पर जमा मिलता है, तो वह ग्राहकों के लोन की दर बढ़ा देता है.एमसीएलआर की दर के बढ़ने का मतलब है कि होम, ऑटो, व्यक्तिगत या सभी प्रकार के लोन महंगे हो जाएंगे, क्योंकि ये सभी एमसीएलआर पर ही आधारित होते हैं.

Loading...