Thursday , September 20 2018
Loading...
Breaking News

जानिए IPL 2018 में अंपायर से क्या हुई बड़ी गलती

 युवा बल्लेबाज ईशान किशन के 21 गेंदों में 62 रनों की मदद से मुंबई ने आईपीएल 2018 के मैच में कोलकाता के सामने रनों का अंबार लगाने में मदद की  मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए छह विकेट पर 210 रन बनाएबड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता की पूरी टीम 18.1 ओवर में 108 रन पर आउट हो गई मुंबई ने कोलकाता को 102 रनों के विशाल अंतर से हरायाआईपीएल इतिहास में कोलकाता की अब तक यह सबसे बड़ी पराजय है इस जीत के साथ मुंबई ने प्लेऑफ में प्रवेश की उम्मीदें प्रबल कर ली हैं यह मैच जितना बड़ा रहा, उतना ही बड़ा इस मैच से जुड़ा एक टकराव भी रहाImage result for जानिए IPL 2018 में अंपायर से क्या हुई बड़ी गलती

 

यह टकराव एक ‘नो बॉल’ का था दरअसल, मुंबई की पारी के 16वें ओवर में दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज टॉम कुरैन गेंदबाजी कर रहे थे रोहित शर्मा स्ट्राइक पर थे टॉम कुरैन की फेंकी एक गेंद को अंपायर ने ‘नो बॉल’ करार दिया इस गेंद को ‘नो बॉल’ बताते हुए अंपायर ने फ्री-हिट का संकेत भी कर दिया, लेकिन जब रिप्ले देखा गया तो पता चला कि यह ‘नो बॉल’ नहीं थी

Loading...

मैदान पर लगी बड़ी स्क्रीन पर स्टेडियम में बैठे खिलाड़ियों, कमेंटटरों  दर्शकों ने जब इस गेंद के रिप्ले को देखा तो साफ पता चला रहा था कि टॉम कुरैन का पैर तो बहुत ज्यादा हद तक क्रीज के भीतर ही था यह बॉल ‘नो बॉल’ नहीं हो सकती थी बता दें कि नियमों के मुताबिक, अगर गेंदबाज की एड़ी का थोड़ा-सा भी भागलाइन के भीतर है तो उसे ‘नो बॉल’ नहीं बोला जा सकता

loading...

रिप्ले देखने के बाद यह तो साफ हो गया था कि यह ‘नो बॉल’ नहीं हैं ऐसे में कोलकाता के सभी खिलाड़ियों ने अंपायर से निर्णय बदलने के लिए कहा, लेकिन अंपायर पहले ही ‘नो बॉल’ दे चुके थे अंपायर के इस निर्णय से कमेंट्री कर रहे ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान कप्तान माइकल क्लार्क भी भड़क उठे क्लार्क ने कमेंट्री करते हुए बोला कि, ये गलती नहीं है ये अपमान है

बता दें कि इससे पहले भी आईपीएल 2018 में अंपायर के गलत फैसलों की आलोचना हो चुकी है हैदराबाद के दो मैचों में अंपायर ने गलत निर्णय दिए दोनों बार इसकी निंदा भी हुई हैदराबाद  चेन्नई के एक मैच के दौरान एक ‘नो बॉल’ फेंकी गई थी, लेकि इस पर अंपायर का ध्यान ही नहीं गया इस मैच को हैदाराबद 4 रनों से हारा था इस मैच के बाद एक्सपर्ट्स का कहना था कि अगर इस ‘नो बॉल’ पर अंपायर ने सही निर्णय दिया होता तो शायद मैच का नतीजा कुछ  ही होता

एक दूसरे आईपीएल मैच में भी अंपायर के गलत निर्णय पर विराट कोहली नाराज होते हुए नजर आए थे यह मैच मुंबई  बेंगलुरु के बीच खेला गया थाइस मैच के आखिरी ओवर में हार्दिक पांड्या को फील्ड अंपायर ने आउट दिया था हार्दिक पांड्या को आउट देने के इस निर्णय पर भी कई सवाल उठे थेअंपायर के इस निर्णय पर मुंबई ने रिव्यू लिया था इस मैच में स्क्रीन पर साफ दिख रहा था कि पांड्या आउट हैं, जिसके बाद भी थर्ड अंपायर ने उन्हें ‘नॉट आउट’ दिया था कप्तान विराट कोहली इस निर्णय से बहुत ज्यादा नाखुश थे उन्होंने अपनी नाराजगी भी जताई थी

बता दें कि दिल्ली  चेन्नई के बीच हुए एक मुकाबले में भी मैच के दौरान अंपायर के निर्णय के बाद टकराव हो गया था इस मैच में दिल्ली को 13 रनों से पराजय का सामना करना पड़ा था दरअसल, मैच की पहली ही गेंद पर शेन वॉटसन के विरूद्ध एलबीडब्ल्यू की अपील हुई थी, लेकिन अंपायर ने इस अपील को नकार दिया था इसके बाद दिल्ली ने इस निर्णय के विरूद्ध रेफरल भी लिया था

रिप्ले में साफ तौर पर देखा गया था कि पहले गेंद पैड से लगी है  उसके बाद गेंद बल्ले से, लेकिन फिर भी थर्ड अंपायर ने नॉट आउट ही दिया यह जीवनदान मिलने के बाद शेन वॉटसन ने शानदार अर्धशतकीय पारी खेली थी दिल्ली की पराजय के बात कप्तान श्रेयस अय्यर ने इस निर्णय पर अपनी नाराजगी भी जताई थी उन्होंने बोला था, “हमने कुछ ज्यादा ही रन दे दिए थे हालांकि, मैं शेन वॉटसन की विकेट के बारे में बात करना चाहूंगा हमारी पूरी टीम को लगा था कि वो आउट है, लेकिन वो निर्णय हमारे विरूद्ध गया  निश्चित ही उसका प्रभाव मैच के परिणाम पर भी पड़ा ”

बता दें कि बुधवार को हुए मैच में पराजय के बाद कोलकाता  मुंबई दोनों के 10 मैचों में 10 अंक हैं, लेकिन नेट रनरेट के आधार पर मुंबई अंकतालिका में चौथे जगह पर आ गई जबकि कोलकाता पांचवें जगह पर खिसक गई है

Loading...
loading...