Friday , October 19 2018
Loading...
Breaking News

मां किसी जॉब करने वाले आदमी से ज्यादा कार्य करती है

कहा जाता है कि एक ‘मां’ होना संसार का सबसे मुश्किल कार्य है, ऐसा इसीलिए है क्योंकि आपके घर में या आसपास अगर कोई छोटा बच्चा है तो गौर करिएगा कि उसकी मां दिन भर में कितनी देर आराम करती हैं, या फिर अपने लिए कितना समय निकाल पाती हैं  बच्चे के डायपर बदलने से लेकर घर के तमाम लोगों की देखरेख करना, सबका ख्याल रखना, घर का ख्याल रखना, वो इन सभी कामों में दिन भर लगी रहती हैं, वो अपना सारा वक्त घर  बच्चे की देखरेख में ही निकाल देती हैं, उनके पास अपने लिए कभी वक़्त नहीं बचता दूसरे शब्दों में कहें तो मां होना किसी Full Time Job से कम नहीं है 

Image result for मां

एक नये सर्वे के मुताबिक एक मां किसी जॉब करने वाले आदमी की तुलना में ढाई गुना ज्यादा कार्यकरती हैं  Research के मुताबिक एक मां अपने बच्चे की देखभाल के लिए एक हफ्ते में 98 घंटे कार्य करती है  इसे अगर दिन के हिसाब से तोड़ा जाए तो ये काम, 7 दिन में 14 घंटे की शिफ्ट के बराबर का कार्य है कार्यालय में इतना कार्य बहुत कम लोग कर पाते हैं इस सर्वे में 5 से 12 वर्ष की आयु के बच्चों की माओं को शामिल किया गया  इसके नतीजे बहुत दंग करने वाले थे ये माएं औसतन प्रातः काल 6 बजकर 23 मिनट से लेकर रात 8 बजकर 31 मिनट तक, बच्चों के लिए कार्यकरती रहीं 

Loading...

और एक दिन में औसतन सिर्फ 1 घंटा 7 मिनट का समय ही अपने लिए निकाल पाईं  Study में ये भी पता चला कि 40 फीसदी मांएं अपनी जिंदगी कभी न समाप्त होने वाले कार्य के दबाव में गुजारती हैं अब सोचिए कि जो महिला दिन में 14 घंटे अपने बच्चे  परिवार को दे रही हैं, उसे Salary भी अच्छी खासी मिलनी चाहिए  लेकिन UN की रिपोर्ट कुछ  कह रही है  क्योंकि United Nations के मुताबिक विकसित राष्ट्रों में जहां पुरुष औसतन 8 घंटा कार्य करते हैं, वहीं महिलाएं 9 घंटे से ज्यादा कार्य करती हैं पुरुषों द्वारा किए जाने वाले 8 घंटों के कार्य में से साढ़े 6 घंटों के लिए उन्हें पैसे मिलते है 

loading...

जबकि स्त्रियों को कम से कम 5 घंटे के लिए मुफ़्त में कार्य करना पड़ता है   इसके लिए उन्हें कुछ नहीं मिलता, क्योंकि उनका कार्य घर  परिवार की देखभाल से जुड़ा होता है  अगर विकासशील राष्ट्रों की बात करें तो, यहां भी हर रोज़ करीब 8 घंटे के कार्य में से स्त्रियों को 5 घंटे के कार्य के कोई पैसे नहीं मिलते स्त्रियों से अक्सर गुस्से में ये कह दिया जाता है कि तुम घर पर ही तो रहती हो, तुम करती ही क्या हो ऐसा कहने वाले लोगों को ये डायलॉग मारने से पहले हज़ार बार सोचना चाहिए

Loading...
loading...