Saturday , February 16 2019
Loading...

1 लाख करोड़ रुपये में बिकेगी 75 फीसदी हिस्सेदारी!

देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट (Flipkart) को अमेरिकी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट (Walmart) जल्द ही खरीद सकती है यह दावा ब्लूमबर्ग की तरफ से जारी रिपोर्ट में किया जा रहा है ब्लूमबर्ग ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि फ्लिपकार्ट ने 75 फीसदी शेयर को 15 बिलियन डॉलर (करीब 1 लाख करोड़) में वॉलमार्ट को बेचने की मंजूरी दे दी है रिपोर्ट के अनुसार सॉफ्टबैंक ने भी अपनी 20 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने पर सहमति जता दी है यह भी समाचार है कि गूगल पैरंट अल्फाबेट भी वॉलमार्ट के साथ इस सौदे में शामिल है

Image result for Flipkart-वॉलमार्ट डील

कंपनी की 20 अरब डॉलर की वेल्यूएशन
डील के तहत कंपनी का वेल्यूएशन करीब 20 अरब डॉलर तय किया गया वॉलमार्ट  फ्लिपकार्ट की डील पर अगले 10 दिन में मुहर लग सकती है अगर वॉलमार्ट  फ्लिपकार्ट के बीच यह डील फाइनल हो जाती है तो इससे अमेजन को बड़ा झटका लग सकता है, क्योंकि पिछले बहुत ज्यादादिनों से अमेजन इस सौदे की प्रयास में लगी थी रॉयटर्स की समाचार में दावा भी किया गया था कि अमेजन ने फ्लिपकार्ट के 60 प्रतिशत शेयर खरीदने का ऑफर किया था

कुछ शर्तों में परिवर्तन हो सकता है
ब्लूमबर्ग की समाचार में यह भी बोला जा रहा है कि डील की कुछ शर्तों में भी परिवर्तन हो सकता है, अभी यह डील सुनिश्चित नहीं है इससे पहले शुक्रवार को टाइम्स ऑफ इंडिया की समाचार में यह भी दावा किया गया था कि वॉलमार्ट बोर्ड में फ्लिपकार्ट के एक ही को-फाउंडर को रखना चाहती है इसके बाद यह आसार जताई गई कि वॉलमार्ट से सौदे के बाद सचिन बंसल  बिन्नी बंसल में से सचिन फ्लिपकार्ट को अलविदा कह सकते हैं

सचिन  बिन्नी की 10% की हिस्सेदारी
बताते चलें कि फ्लिपकार्ट में सचिन बंसल और बिन्नी बंसल की 10 प्रतिशत की हिस्सेदारी है इसमें 5.5 फीसदी शेयर सचिन बंसल के पास  4.5 प्रतिशत बिन्नी बंसल के पास हैं दूसरी तरफ फ्लिपकार्ट  वॉलमार्ट के बीच वार्ता फाइनल होने की खबरों ने फ्लिपकार्ट के प्लेटफार्म पर सामान बेचने वाले विक्रेताओं को कठिनाई में डाल दिया है अखिल इंडियन औनलाइन विक्रेता संघ (एइओवा) के प्रवक्ता ने बोला कि विक्रेता समुदाय को अभी तक इस वार्ता के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है

अमेजन  फ्लिपकार्ट पर बिक्री करने वाले करीब 3,500 विक्रेता इस संघ के सदस्य हैं संघ के प्रवक्ता ने बोला कि फ्लिपकार्ट या अन्य पक्ष की ओर से इस विषय में हमसे कोई वार्ता नहीं की गई है हम यह समझते हैं कि सौदे की वार्ता व्यक्तिगत होती है लेकिन इसने हमें अंधेरे में रखा है, हमारा इस मंच पर भविष्य क्या होगा हम इस पर स्पष्टता चाहते हैं ताकि हम उसके अनुसार योजना बना सकें ’

loading...