X
    Categories: अंतर्राष्ट्रीय

ईरान का बड़ा बयान : अमेरिका नहीं है कोरियाई राष्ट्रों के सुधरते संबंधों की वजह

उत्तर  दक्षिण कोरिया के बीच सुधरते रिश्तों को लेकर ईरान ने अपनी राय रखी है, ईरान ने दोनों राष्ट्रों के बीच सुधरते रिश्तों का सम्मान किया, लेकिन ईरान ने इसका श्रेय अमेरिका को देने से इंकार किया है ईरान का कहना है कि दोनों राष्ट्रों के सम्बन्ध सुधरने में अमेरिका का हाथ नहीं है, क्योंकि अमेरिका ने अपने वचनों का मान नहीं रखा है

ईरान के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी किए गए बयान में बोला गया है कि उत्तर कोरियाई लीडर किम जोंग उन  दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जाए इन की मुलाकात क्षेत्रीय एवं वैश्विक स्थायित्व की दिशा में जिम्मेदार एवं प्रभावी कदम है मंत्रालय के प्रवक्ता बहराम घासेमी ने बोला कि कोरियाई प्रायद्वीप में शांति कायम करने की ऐतिहासिक नयी पृष्ठभूमि दोनों मुख्य पक्ष ही बिना किसी अन्य राष्ट्र के दखल के तैयार करें

Loading...

बहराम घासेमी ने बोला कि ‘खासकर परमाणु करार के विषय में ईरान का पिछले 40 वर्ष का अनुभव यह है कि अमेरिकी गवर्नमेंट मर्यादापूर्ण  भरोसेमंद नहीं है  वह अंतर्राष्ट्रीय वादों का सम्मान नहीं करती है ’गौरतलब है कि ईरान ने प्रतिबंध राहत के एवज में अपने परमाणु प्रोग्राम पर रोक लगाते हुए अमेरिका  पांच अन्य वैश्विक शक्तियों के साथ 2015 में संधि की थी उसने दलील दी है कि अमेरिका इस संधि का उल्लंघन कर बाहरी संसार के साथ उसके व्यापार में टांग अड़ाता रहा है

loading...
Loading...
News Room :

Comments are closed.