Tuesday , November 20 2018
Loading...

तिब्बत में हवाई ताकत बढ़ा रहा है चाइना

इंडियन वायुसेना के प्रमुख बी एस धनोआ ने गुरुवार को बोला कि चाइना हिंदुस्तानसीमा पर तिब्बती स्वायत्त एरिया में अपनी हवाई ताकत को बढ़ा रहा है एयर चीफ मार्शल ने एक संबोधन में बोला ‘ कि सभी आकस्मिक स्थितियों में अभियानों के पूर्ण संचालन के लिए लड़ाकू विमानों के 42 स्क्वाड्रन की आवश्यकता है मौजूदा समय में आईएएफ के पास लडाकू विमानों के केवल 31 स्क्वाड्रन हैं उन्होंने हालांकि बोला कि जब भी आवश्यकता होगी तो आईएएफ में ‘‘ तेजी ’’ से युद्ध लड़ने की क्षमता है

Image result for तिब्बत में हवाई ताकत बढ़ा रहा है चाइना

पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के बारे में बात करते हुए उन्होंने बोला कि आतंकी संगठनों द्वारा लगातार किये जा रहे हमलों से इशारा मिलता है कि कुछ क्षेत्रों में इंडियन प्रतिरोध कार्य नहीं कर रहा है  उन्होंने जोर दिया कि इस एरिया में क्षमताओं को बढाने की आवश्यकता है ताकि इस्लामाबाद के रूख व्यवहारगत बदलाव सुनिश्चित किया जा सके

Loading...

चीन की सीमा पर स्थिति के बारे में उन्होंने बोला , ‘‘ पिछले कुछ सालों से , हमने तिब्बती स्वायत्त एरिया में चीनी विमानों की तैनाती में जरूरी बढोत्तरी देखी है ’’ एयर चीफ मार्शल ने बोला कि उन्होंने हाल में चीनी वायु सेना के ऑफिसर से बोला था कि दोनों पक्षों को प्रयत्न से बचने के लिए अधिक बार बैठकें करनी चाहिए

loading...

पीएम मोदी का चाइना दौरा
आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि पीएम नरेन्द्र मोदी चाइना की दो दिवसीय यात्रा पर गुरुवार को रवाना हो गए जहां वे चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ अनौचारिक शिखर बातचीत में भागलेंगे  इस दौरान दोनों पक्ष द्विपक्षीय, अंतर्राष्ट्रीय एवं आपसी हितों से जुड़े जरूरी मुद्दों पर चर्चा करेंगे   पीएम नरेंद्र मोदी  चीनी राष्ट्रपति शी चिनपिंग के बीच 27  28 अप्रैल को चाइना के वुहान शहर में शिखर मीटिंग होगी 

अनौपचारिक है पीएम मोदी का चाइना दौरा
सूत्रों के अनुसार पीएम मोदी  चीनी राष्ट्रपति शी के बीच की इस शिखर बातचीत को अनौपचारिक बोला गया है  ऐसा इसलिए कि इस बातचीत के दौरान किसी समझौते पर दस्तखत नहीं होगा कोई साझा बयान जारी नहीं होगा  शिष्टमंडल स्तर की भी वार्ता जैसा मामला नहीं होगा  ये मौक़ा दोनों राष्ट्रों के प्रमुखों के बीच अनौपचारिक सीधी आपसी वार्ता का होगा 

डोकलाम टकराव के कारण दोनों राष्ट्रों के संबंधों में आए खटास को दूर करने के लिये हाल के समय में दोनों पक्षों ने कई कदम उठाये हैं  इस दिशा में हिंदुस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल ने चाइना की यात्रा की थी  इसके बाद, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आठ राष्ट्रों के शंघाई योगदान संगठन (एससीओ) के विदेश मंत्रियों की दो दिवसीय मीटिंग में भाग लेने के लिए चाइनागई थी  इसी दौरान रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण भी चाइना के दौरे पर पहुंची हैं

Loading...
loading...