Tuesday , September 25 2018
Loading...
Breaking News

परमाणु समझौते से हटने के विरूद्ध डोनाल्ड ट्रंप को चेताया

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने मंगलवार (24 अप्रैल) को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चेतावनी देते हुए बोला कि 2015 में विश्व शक्तियों के साथ तेहरान गवर्नमेंट द्वारा हस्ताक्षरित परमाणु समझौते से हटने पर उन्हें ‘गंभीर परिणाम’ भुगतने पड़ेंगे टीवी पर सीधा प्रसारण में उन्होंने बोला कि उनकी गवर्नमेंट इस समझौते से अंत तक जुड़ी हुई है  ट्रंप को समझौते से अलग नहीं होने की चेतावनी दी इस समझौते पर रूस, चीन, जर्मनी, ब्रिटेन  फ्रांस ने हस्ताक्षर किए थे

Image result for Warned Donald Trump against withdrawal of nuclear deal

रूहानी ने कहा, “मैं व्हाइट हाउस में बैठे लोगों को बता देना चाहता हूं कि अगर वे अपनी बचनबद्धता पर कायम नहीं रहे, तो ईरान गवर्नमेंट इसपर बहुत ज्यादा सख्त रिएक्शन देगी ” उन्होंने कहा, “अगर कोई इस समझौते पर धोखा देता है, तो उसे यह समझ लेना चाहिए कि उसे बहुत ज्यादा गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे ”

Loading...

ट्रंप, मैक्रों ने ईरान के साथ नये परमाणु समझौते का आह्वान किया
इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप  फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने 24 अप्रैल को ईरान के साथ एक नये परमाणु समझौते का आह्वान किया अमेरिकी राष्ट्रपति ने तीन वर्ष पुराने समझौते को ‘‘बेतुका’’ बताते हुए उसकी निंदा की वहीं मैक्रों ने ट्रंप के साथ वॉशिंगटन में एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मैं कह सकता हूं कि इसे लेकर हम दोनों के बीच खुलकर चर्चा हुईइसलिए हम अब से ईरान के साथ एक नये समझौते की दिशा में कार्य करना चाहते हैं ’’

loading...

ट्रंप के यूरोपीय सहयोगियों ने बार-बार अनुरोध किया था कि वे 2015 के करार से पीछे न हटें जिसमें ईरान को प्रतिबंधों से बड़ी राहत  नागरिक परमाणु प्रोग्राम की गारंटी दी गई थी इसके बदले में ईरान को उन कार्यक्रमों पर रोक लगानी थी जिनका प्रयोग परमाणु हथियार बनाने में हो सकता था

परमाणु समझौते से अमेरिका के अलग होने का जवाब देगा ईरान
पहले भी ईरान ने 2015 के ऐतिहासिक अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते से अलग होने की अमेरिका की धमकी का कड़ा जवाब देने की प्रतिबद्धता जताई थी ईरान ने विश्वास जताया था कि इससे राष्ट्रको कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार (21 अप्रैल) को बोला था, “2015 के ऐतिहासिक परमाणु समझौते से अमेरिका के संभावित रूप से अलग होने से ईरान की अर्थव्यवस्था पर कोई निगेटिव असर नहीं पड़ेगा ” खबर एजेंसी सिन्हुआ ने रूहानी के हवाले से बताया था कि ईरान संयुक्त व्यापक कार्रवाई योजना (जेसीपीए) के नाम से प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीयपरमाणु समझौते से अमेरिका के अलग होने के संभावित निर्णय के लिए पूरी तरह तैयार है

Loading...
loading...