Saturday , September 22 2018
Loading...
Breaking News

भाजपा के आधे सांसदों के टिकट कटेंगे

भाजपा ने लोकसभा चुनाव की लड़ाई को दिलचस्प और दमदार बनाने के लिए कसौटी पर असफल रहे लगभग आधे सांसदों के टिकट काटने और प्रदेश सरकार के कुछ मंत्रियों को चुनाव लड़ाने की तैयारी की है। ये मंत्री क्षेत्रीय और जातीय समीकरणों के लिहाज से भाजपा की कसौटी पर फिट बैठते हैं। कोशिश इन चेहरों के सहारे प्रदेश में भाजपा का माहौल बनाने और जातीय व क्षेत्रीय समीकरणों की बिसात पर विपक्ष को मात देने की है।
Image result for भाजपा के आधे सांसदों के टिकट कटेंगे

भाजपा नेतृत्व की लोकसभा चुनाव के लिए मिल रहे शुरुआती फीडबैक के मद्देनजर करीब 35 से अधिक मौजूदा सांसदों का टिकट काटने की तैयारी में है। पार्टी के वरिष्ठ नेता डॉ. मुरली मनोहर जोशी और कलराज मिश्र सहित कुछ अन्य उम्रदराज सांसदों को भी चुनाव लड़ाने के बजाय कोई दूसरी जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। वहीं कुछ सांसदों की क्षेत्र में निष्क्रियता और खराब छवि को देखते हुए उनके टिकट काटे जा सकते हैं।

पार्टी के रणनीतिकारों का मानना है कि प्रदेश में भाजपा की नींव जितनी मजबूत होगी, केंद्र की सत्ता पर दोबारा काबिज होने की राह उतनी ही आसान होगी। सपा-बसपा गठबंधन के बाद चुनावी राह की मुश्किलों को भांपते हुए भाजपा ने अपने बड़े नेताओं, फिल्म और खेल जगत के चर्चित चेहरों को भी चुनावी बिसात पर उतारने का मन बनाया है। इनमें भी वरीयता साफ-सुथरी छवि वालों को देने की है।

Loading...

इन चेहरों पर बाजी

श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य को भाजपा न केवल चुनाव मैदान में उतारना चाहती है बल्कि पिछड़े और अति पिछड़े वर्ग में वोट बैंक मजबूत करने के लिए उन्हें पार्टी का स्टार प्रचारक भी बनाने की तैयारी है। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के तेवर को देखते हुए सरकार के मंत्री अनिल राजभर को भाजपा का राजभर चेहरा बनाने का निश्चय किया गया है।

अनिल को लोकसभा चुनाव लड़ाया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक, अनिल को राजभर समाज के बीच मजबूत पकड़ बनाने को कहा गया है ताकि ओमप्रकाश अगर साथ छोड़ते हैं तो नुकसान न हो।

loading...

विधि एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक, सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा, पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, चिकित्सा मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, खेल मंत्री चेतन चौहान, वन मंत्री दारासिंह चौहान, परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वतंत्र देव सिंह सहित अन्य कुछ नेताओं को भी चुनाव लड़ाया जा सकता है।

Loading...
loading...