Sunday , November 18 2018
Loading...
Breaking News

बढ़ सकती है आवेदन की तारीख

राजकीय स्कूलों में एलटी ग्रेड शिक्षकों के दस हजार से अधिक पदों पर भर्ती के लिए 6 मई को प्रस्तावित इम्तिहान नहीं होगी. बृहस्पतिवार को आयोग पहुंचे अभ्यर्थियों के समक्ष वहां के अफसरों ने स्थिति स्पष्ट कर दी. हालांकि यह नहीं बताया गया कि इम्तिहान की नयी तिथि कब जारी की जाएगी.माना जा रहा है कि इम्तिहान अब तीन-चार माह बाद होगी.
Image result for एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती

न्यायालय के आदेश पर एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के तहत हिंदी शिक्षक, कंप्यूटर शिक्षक के अभ्यर्थियों  ओवरएज अभ्यर्थियों को आवेदन के लिए अलावा समय दिया जाना है. यूपी लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने आवेदन की तिथि अभी तय नहीं की है.

इम्तिहान छह मई को होगी या नहीं, इस पर भी असमंजस की स्थिति बनी हुई थी. शुक्रवार को कई प्रतियोगी आयोग पहुंचे  अनुसचिव एवं मीडिया प्रभारी सुरेंद्र उपाध्याय को ज्ञापन सौंपकर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की. अनुसचिव ने प्रतियोगियों को बताया कि छह मई को इम्तिहान नहीं हो सकेगी. जल्द ही लिखित आदेश जारी किया जाएगा. यह भी स्पष्ट किया कि विशेष मामलों में आवेदन के लिए अलावा समय दिया जाएगा  जल्द ही इसकी तिथि घोषित की जाएगी.

Loading...

उन्होंने बोला कि इम्तिहान अब तीन-चार माह बाद ही आयोजित कराई जा सकेगी. उधर, आयोग के सचिव जगदीश का कहना है कि विश्ेष मामलों में अभ्यर्थियों को आवेदन के लिए अलावा समय दिया जाना है, इसलिए इम्तिहान प्रस्तावित तिथि छह मई को नहीं कराई जा सकेगी. न्यायालय के आदेश का परीक्षण चल रहा है. जल्द ही आवेदन की तिथि घोषित की जाएगी.

loading...

पीसीएस मुख्य इम्तिहान को लेकर उहापोह बरकरार

पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा-2017 का परिणाम संशोधित होगा या यूपीपीएससी न्यायालय के आदेश को सुप्रीम न्यायालय में चुनौती देगा, इस पर अब तक स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है. ऐसे में 17 मई को प्रस्तावित पीसीएस मुख्य इम्तिहान को लेकर भी संकट के बादल मंडरा रहे हैं.

हालांकि आयोग की ओर से लगातार यही बोला जा रहा है कि मुख्य इम्तिहान निर्धारित समय पर कराए जाने के लिए पूरा कोशिश हो रहा है. इम्तिहान परिणाम संशोधित होता है तो मुख्य इम्तिहानसमय पर नहीं हो सकेगी, ऐसे में आयोग की ओर से इम्तिहान समय पर कराए जाने के बयान का यही अर्थ निकाला जा रहा है कि आयोग ने सुप्रीम न्यायालय जाने की तैयारी कर ली है. आयोग के सूत्रों का कहना है कि आवेदन आदि की प्रक्रिया आयोग पहले ही पूरी कर चुका है.

अगर सुप्रीम न्यायालय से स्टे मिलता है तो इम्तिहान समय पर कराई जा सकती है. इस बारे में आयोग के मीडिया प्रभारी सुरेंद्र उपाध्याय का कहना है कि आयोग की यही मंशा है कि इम्तिहान निर्धारित समय पर कराई जाए.

Loading...
loading...