X
    Categories: उत्तर प्रदेश

उन्नाव दुष्कर्म केस: आरोपी विधायक के भाई ने कही ये बड़ी बात

उन्नाव प्रकरण में अब तक हुई तफ्तीश की समीक्षा करने के लिए सीबीआई के डायरेक्टर एफएसएल राकेश अस्थाना बुधवार को लखनऊ पहुंचे। उन्होंने जांच कर रहे अधिकारियों द्वारा जुटाए गए अब तक के साक्ष्यों के बारे में जानकारी हासिल की और बताया कि अभी और किन किन साक्ष्यों की आवश्यकता है।

राकेश अस्थाना दोपहर बाद सीबीआई मुख्यालय पहुंचे और ज्वाइंट डायरेक्ट जीके गोस्वामी और एसपी सीबीआई राघवेंद्र वत्स के साथ पूरे मामले की समीक्षा की।

Loading...

इस दौरान उन्होंने अपने अनुभव साझा करते हुए इस हाई प्रोफाइल केस में किन बातों को लेकर सावधानी बरती जानी चाहिए और किन-किन चीजों का जांच के दौरान खास ख्याल रखा जाना चाहिए।

loading...

सूत्रों के मुताबिक घटना से संबंधित सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे ऑडियो और वीडियो को किस तरह साक्ष्य के रूप में प्रस्तुत किया जाए, इसके लिए अधिकारियों को जानकारी दी।

पूरे देश की है निगाह

दर असल सीबीआई पूरी जांच में फूंक फूंक कर कदम आगे बढ़ा रही है। मामला हाई प्रोफाइल होने के नाते पूरे देश की इस पर निगाह है। सीबीआई की टीम बलात्कार के मामले के साथ साथ पीड़िता के पिता की पिटाई और उसकी मौत के मामले में भी विधायक की भूमिका की पड़ताल कर रही है।

पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में रिमांड पर लाया गया विधायक कुलदीप सेंगर के भाई अतुल सेंगर व उसके चार अन्य साथियों को उन्नाव ले जाया गया। उन्नाव जाने से पहले पुलिस वैन जैसे ही सीबीआई के दफ्तर से बाहर निकली मीडिया कर्मी गाड़ी की ओर लपके। वैन की जालियों से बाहर देखते हुए उसने सिर्फ इतना कहा कि मेरा विधायक भाई निर्दोष है। वह कुछ और कह पाता इससे पहले गाड़ी आगे बढ़ गई।

महिला कारागार में दाखिल की जाएगी शशि

पीड़िता से बलात्कार मामले में विधायक की मददगार शशि सिंह की रिमांड बृहस्पतिवार को पूरी हो रही है। न्यायालय ने उसे चार दिन की रिमांड पर सीबीआई के सुपुर्द किया था। रिमांड पूरी होने के बाद से उसे 19 अप्रैल को महिला कारागार में पेश करने का निर्देश दिया था। सूत्रों की मानें तो सीबीआई शशि की कस्टडी रिमांड बढ़ाने केलिए न्यायालय में आवेदन कर सकती है। वहीं हत्या के मामले और मारपीट के मामले में जांच के लिए सीबीआई की एक टीम उन्नाव में डटी हुई है।

Loading...
News Room :

Comments are closed.