Wednesday , September 19 2018
Loading...
Breaking News

चाइना का दावा- हिंदुस्तान के संबंधों में आई तेजी

बीजिंग: चीन ने बोला कि हिंदुस्तान के साथ उसके संबंधों में उल्लेखनीय तेजी आई है तथाकी आगामी यात्रा से दोनों राष्ट्रों के बीच राजनीतिक विश्वास  बढ़ेगा सुषमा चार दिवसीय दौरे पर 21 अप्रैल को यहां आएंगी  अपने चीनी समकक्ष वांग यी के साथ 22 अप्रैल को मुलाकात करेंगी इस मुलाकात में सुषमा  वांग यी 73 दिन तक चले डोकलाम सैन्य गतिरोध के कारण संबंधों में आए तनाव को दूर करने की कोशिशों को गति देंगे  अन्य मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे

Image result for चाइना का दावा- हिंदुस्तान के संबंधों में आई तेजी

चीनी विदेश मंत्रालय में प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने बोला ‘‘ हम मानते हैं कि सुषमा स्वराज की यात्रा से दोनों राष्ट्रों के बीच राजनीतिक विश्वास बढ़ेगा  चाइना हिंदुस्तान रणनीतिक योगदान भागीदारी उन्नत होगी ’’ हुआ ने बोला ‘‘ हमने हर तरह के योगदान में आई तेजी देखी है

Loading...

इस वर्ष द्विपक्षीय संबंधों में सकारात्मक गति है- प्रवक्ता हुआ चुनयिंग 
इस वर्ष द्विपक्षीय संबंधों में सकारात्मक गति है   हम उच्च स्तरीय आदान प्रदान को बनाए रखने , व्यवहारिक योगदान को विस्तृत करने , विवादों के समुचित हल  द्विपक्षीय संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए इंडियन पक्ष के साथ कार्य करना चाहेंगे ’’ दोनों राष्ट्रों के बीच अलगाव के मुद्दों में चाइनापाक आर्थिक गलियारा ( सीपीईसी ) शामिल है जो कश्मीर के , पाक के कब्जे वाले हिस्से में बनाया जा रहा है

loading...

इसके अतिरिक्त , चाइना परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह ( एनएसजी ) में हिंदुस्तान के प्रवेश को भी बाधित कर रहा है   साथ ही वह जैश ए मुहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त देश द्वारा वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रयासों का भी विरोध करता है

वांग यी को स्टेट काउंसेलर बनाए जाने के बाद सुषमा के साथ पहली बैठक
वांग यी को पिछले माह स्टेट काउंसेलर बनाए जाने के बाद उनकी सुषमा के साथ यह पहली मीटिंग होगी   इस पद ने उन्हें चीनी पदक्रम में शीर्ष राजनयिक की स्थान दे दी है   अब वांग यी चाइना के विदेश मंत्री  स्टेट काउंसेलर दोनों ही हैं चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि वार्ता के दौरान वांग यी  सुषमा द्विपक्षीय संबंधों , परस्पर चिंता के अंतर्राष्ट्रीय  क्षेत्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान प्रदान करेंगे

सुषमा चीनी हिंदी शोधार्थियों तथा विद्यार्थियों से भी मिलेंगी
सुषमा 24 अप्रैल को शंघाई योगदान संगठन ( एससीओ ) के विदेश मंत्रियों की मीटिंग में भागलेंगी वह चीनी हिंदी शोधार्थियों तथा विद्यार्थियों से भी मिलेंगी हुआ ने बताया कि एससीओ के सभी आठ सदस्य राष्ट्रों के विदेश मंत्री 24 अप्रैल को मीटिंग में शामिल होंगे

एससीओ के सदस्य राष्ट्र चाइना , कजाखस्तान , किर्गिजस्तान , रूस , ताजिकिस्तान , उजबेकिस्तान , हिंदुस्तान  पाक हैं   पिछले वर्ष हिंदुस्तान  पाक को एससीओ में शामिल किए जाने के बाद यह विदेश मंत्रियों की पहली मीटिंग है हुआ ने बताया कि सभी पक्ष एससीओ योगदान  बड़े अंतर्राष्ट्रीय तथा क्षेत्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान प्रदान करेंगे उन्होंने बताया कि यह मीटिंग जून में चाइना के क्विंगदाओ शहर में होने जा रहे एससीओ के सम्मेलन के लिए आधार तैयार करेगी

समझा जाता है कि एससीओ शिखर सम्मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी भाग लेंगे   हुआ के अनुसार , मीटिंग के अंत में निष्कर्ष दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए जाएंगे   ‘‘ हमारा मानना है कि सभी पक्ष इस मौके पर सहमति बनाने ,  अधिक योगदान के कोशिश करने के साथ साथ क्विंगदाओ शिखर सम्मेलन की सफलता सुनिश्चित करने की प्रयास करेंगे   ’’ सुषमा  रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण लगभग एक ही समय में चाइना आ रही हैं

सीतारमण 24 अप्रैल को एससीओ के रक्षा मंत्रियों की मीटिंग में भाग लेंगी डोकलाम गतिरोध के बाद उत्पन्न तनाव को दूर करने के लिए हिंदुस्तान  चाइना दोनों ने ही उच्च स्तरीय आदान प्रदान को तेज किया है वांग के साथ सुषमा की वार्ता से पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने चाइना के विदेश मामलों के आयोग के निदेशक  सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना ( सीपीसी ) के सदस्य यांग जिशी से शंघाई में 13 अप्रैल को मुलाकात की थी तब दोनों पक्षों के बीच संबंधों को सुधारने के बारे में गहन बातचीत हुई थी

Loading...
loading...