Thursday , September 20 2018
Loading...

इटली के पीएम बोले – रासायनिक युद्ध के विरूद्ध हैं हम

रोम: इटली के पीएम पाओलो जेंटिलोनी ने बोला कि राष्ट्र रासायनिक युद्ध के विरूद्ध है, लेकिन उसने शुक्रवार को अमेरिका के नेतृत्व में सीरिया में रासायनिक हथियारों के ठिकानों पर किए गए हवाई हमलों में भाग नहीं लिया संसद के निचले सदन को संबोधित करते हुए जेंटिलोनी ने बोला कि रासायनिक युद्ध ‘अस्वीकार्य’ है खबर एजेंसी सिन्हुआ ने पीएम के बयान के हवाले से बताया, “प्रथम विश्व युद्ध (जब सरसों की गैस का प्रयोग हुआ था) के अंत के सौ वर्ष बाद फिर से रासायनिक हथियारों के साथ रहने का विचार  किसी भी प्रकार से उन्हें वैध ठहराना अस्वीकार्य है ”

Image result for इटली के पीएम

उन्होंने कहा, “हम इसे स्वीकार नहीं कर सकते   दमिश्क के विद्रोही-नियंत्रित डौमा में सात अप्रैल को हमले में रासायनिक हथियारों के प्रयोग किए जाने के सारे सबूत हैं ” इतालवी नेता ने कहा, “14 अप्रैल को रासायनिक हथियारों के निर्माण स्थलों पर अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा किए गए हमले प्रेरित, लक्षित  सीमाबद्ध थे  ऐसा कोई भी सबूत नहीं है कि इन हमलों में नागरिक मारे गए ”

जेंटिलोनी ने कहा, “इटली ने इन हमलों में भाग नहीं लिया था  न ही हमारे एरिया से किसी तरह की सैन्य सहायता भेजी गई “इटली में अमेरिका के चार सैन्य अड्डे हैं, जिनमें से एक सिसिली के सिंगोनेला में हैजेंटिलोनी ने बोला कि सीरिया के संकट को बल इस्तेमाल से नहीं, केवल वार्ता के जरिए सुलझाया जा सकता है

सीरिया में हमले के बावजूद अमेरिका के साथ वार्ता को लेकर आशान्वित है रूस
इससे पहले रूस ने बीते 16 अप्रैल को बोला कि अपने सहयोगी राष्ट्र सीरिया पर पिछले सप्ताह अमेरिका के नेतृत्व में हुए हमले के बावजूद उसे अमेरिका के साथ वार्ता को लेकर अब भी उम्मीदें हैं क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि जब हमारे अमेरिकी सहयोगी अपने आंतरिक मुद्दे सुलझा लेंगे तब वॉशिंगटन द्वारा मौजूदा समय में (हमारे) द्विपक्षीय संबंधों को पहुंचायी गई क्षति के बावजूद एक तरह का संवाद प्रारम्भ होगा ’ उन्होंने बोला कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप  उनके रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन के बीच संभावित बातचीत को लेकर दोनों राष्ट्रों में किसी तरह की वार्ता नहीं हो रही है

Loading...

रुस  सीरिया ने ओपीसीडब्ल्यू टीम को डौमा में नहीं जाने दिया : ब्रिटिश दूतावास
वहीं दूसरी ओऱ रुस  सीरिया ने संसार के रासायनिक हथियार निगरानी निकाय को एक तथ्यान्वेषी मिशन को जहरीली गैस हमला के आरोपों की जांच के लिए डौमा भेजने की अबतक इजाजत नहीं दी है नीदरलैंड्स में ब्रिटिश दूतावास ने बीते 16 अप्रैल को यह जानकारी दी ब्रिटिश प्रतिनिधिमंडल ने ट्विटर हैंडल से लिखा हैकि रासायनिक हथियार निषेध संगठन के प्रमुख अहमत उजूमकू ने अपनी टीम की तैनात के विषय में हुई आपात बातचीत के बारे में बताया लेकिन रुस एवं सीरिया ने अबतक दूमा जाने की इजाजत नहीं दी है निर्बाध पहुंच जरुरी है ब्रिटिश राजदूत पीटर विल्सन ने मीटिंग में यह भी अपील की कि (रासायनिक हमला करने वालों को) जवाबदेह ठहराया जाए  ऐसा नहीं करने से सीरिया एवं उसके पार रासायनिक हाथियारों के बर्बर उपयोग का खतरा बढ़ेगा ही

loading...
Loading...
loading...