Thursday , September 20 2018
Loading...

भारत, ब्रिटेन ने आतंकवाद के विरूद्ध लिया संकल्प

लंदन: हिंदुस्तान  ब्रिटेन ने लश्कर- ए- तैयबा  जैश- ए- मोहम्मद जैसे वैश्विक आतंकवादी संगठनों के विरूद्ध निर्णायक कार्रवाई करने के लिए योगदान बढ़ाने का संकल्प लिया दोनों राष्ट्रों ने इस बात पर भी जोर दिया कि आतंकवाद को किसी एक धर्म से नहीं जोड़ा जा सकता है पीएम नरेंद्र मोदी ब्रिटिश पीएम टेरीजा मे के बीच ‘ सार्थक चर्चा ’ के बाद दोनों राष्ट्रों ने आतंकवाद का मुकाबला करने का संकल्प लिया   दोनों ने हिंदुस्तान – ब्रिटेन संबंधों के विभिन्न पहलुओं पर वार्ता की

Image result for भारत, ब्रिटेन

10 डाउनिंग स्ट्रीट की ओर से जारी बयान के अनुसार दोनों नेताओं के बीच वार्ता में सीरिया हवाई हमले , आतंकवाद विरोधी लड़ाई , कट्टरपंथ  औनलाइन चरमपंथ पर मुख्य रूप से चर्चा की गईइंडियन विदेश सचिव विजय गोखले ने संवाददाओं से बोला कि आतंकवाद से लड़ाई के मुद्दे पर ब्रिटिश पीएम ने मोदी से बोला कि ब्रिटेन इस समस्या से निपटने में हिंदुस्तान के साथ् एक रणनीतिक साझेदार के तौर पर खड़ा है

साझा बयान के अनुसार दोनों नेताओं ने हिंदुस्तान  ब्रिटेन में आतंकवाद  आतंकवादी घटनाओं सहित सभी तरह के आतंकवाद की निंदा की मोदी  मे बोला कि आतंकवाद को किसी भी आधार पर उचित नहीं ठहराया जा सकता तथा इसको किसी धर्म , नस्ल , राष्ट्रीयता  जाति से नहीं जोड़ा जा सकता दोनों नेताओं ने इस बात पर सहमति जताई कि आतंकी  चरमपंथी संगठनों को ऐसे किसी भी दायरे से उपेक्षित रखने की आवश्यकता है जहां वे कट्टरपंथ फैला सकें , लोगों की भर्ती कर सकें  निदोर्ष लोगों पर आतंकवादी हमले कर सकें

साझा बयान के अनुसार मोदी  मे ने लश्कर- ए- तैयबा, जैश- ए- मोहम्मद, हिज्बुल मुजाहिदीन, हक्कानी नेटवर्क, अलकायदा, आईएसआईएस तथा इनसे जुड़े समूहों जैसे वैश्विक आतंकवादी संगठनों के विरूद्धनिर्णायक कार्रवाई करने के लिए योगदान बढ़ाने पर सहमति जताई पिछले दिनों ब्रिटेन में पूर्व रूसी डबल एजेंट सर्गई स्क्रिपल तथा उनकी बेटी यूलिया पर नर्व एजेंट नामक रसायन द्वारा हमला किए जाने की घटना का भी साझा बयान में उल्लेख किया गया है

Loading...

बयान के मुताबिक मोदी  मे ने सीरिया में रासायनिक हथियारों के उपयोग से जुड़ी खबरों को लेकर गहरी चिंता को साझा किया दोनों नेताओं ने इस बात पर जोर दिया कि रासायनिक हथियारों के प्रयोग के किसी भी घटना की ‘ केमिकल वेपन्स कनवेंशन’ के प्रावधानों के मुताबिक संपूर्ण जांच होनी चाहिए

loading...
Loading...
loading...