Wednesday , April 25 2018
Loading...

घरेलु प्रोग्राम में इस सत्र से होंगे ये खास बदलाव

बीसीसीआई की तकनीकी समिति ने सोमवार को कई मुद्दों पर चर्चा करते हुए महत्वपूर्ण  निर्णय लिए तकनीकी समिति की कोलकाता में आज ढाई घंटे लंबी मीटिंग चली जिसमें कई सिफारिशों को प्रस्तावित किया इनमें 2018-19 सत्र की शुरूआत विजय हजारे ट्राफी से करने के अतिरिक्त रणजी ट्राफी में एक अलावा दौर शामिल करने का प्रावधान है मीटिंग में इस बात पर भी चर्चा हुई कि क्या रणजी मैचों को एसजी की स्थान कूकाबूरा गेंद से खेला जा सकता है

Related image

बैठक में रखे गये प्रमुख सुझावों में से एक यह भी था कि रणजी ट्रॉफी में 16 ( प्री – क्वार्टर फाइनल ) मैच के दौर की आरंभ की जाए  तकनीकी समिति के एक सदस्य ने गोपनीयता की शर्त पर बताया, ‘‘पिछले दिनों मुंबई में हुए कप्तान – कोच सम्मेलन में ज्यादातर राज्यों के कप्तान इसमें प्री – क्वार्टर फाइनल को शामिल करने के पक्ष में थे फिल्हाल हमारे पास चार ग्रुप है जिससे शीर्ष की दो टीमें क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई करती है ’’

उन्होंने कहा, ‘‘कप्तानों को लगता है कि नॉकआउट दौर प्री – क्वार्टर फाइनल से ही प्रारम्भ हो जाना चाहिए, इसलिए तकनीकी समिति चाहती है कि राउंड ऑफ 16 को रणजी ट्राफी में शामिल किया जाए इसका मतलब होगा आठ अलावा मैच  16 टीमों के लिए एक अलावा मैच ’’

यह भी पढ़ें:   क्या युवराज सिंह और सुरेश रैना का अंतरराष्ट्रीय करियर खत्म ?
Loading...
loading...

पश्चिमी हिंदुस्तान में सूखे  मानसून में कम बारिश की स्थिति को देखते हुए यह निर्णय किया गया कि विजय हजारे ट्राफी से सत्र की शुरूआत हो अक्टूबर में रणजी ट्राफी प्रारम्भ करने से कई चार दिवसीय मैच प्रभावित होते है जिनका कोई परिणाम नहीं निकलता उन्होंने बोला , ‘‘ घरेलू मैचों के कैलेंडर में परिवर्तनकिया जा सकता है यह अब हजारे ट्राफी से प्रारम्भ होगा  फिर रणजी ट्राफी के ग्रुप लीग चरण के मैच होंगेउसके बाद सैयद मुश्ताक अली ट्राफी ( राष्ट्रीय टी 20 टूर्नामेंट ) जिससे आईपीएल टीमों को भी प्रतिभा पहचान करने में मदद मिले सैयद मुश्ताक अली ट्राफी के बाद रणजी ट्राफी के प्री – क्वार्टरफाइनल से नाक आउट चरण प्रारम्भ होगा ” उन्होंने कहा, ‘‘तकनीकी समिति के अध्यक्ष सौरव गंगुली चाहते है कि ऐसा प्रोग्राम बने जिसमें जल्द परिवर्तन करने की आवश्यकता नहीं हो  उसमें निरंतरता रहे ”

यह भी पढ़ें:   कोहली बोले हमसे अच्छा खेली आस्ट्रेलिया...

संवाददाता सम्मेलन में बीसीसीबाई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने बोला कि ऐसे सुझाव मिले थे कि रणजी ट्राफी में लाल कूकाबुरा गेंद का प्रयोग किया जाए लेकिन वे हिंदुस्तान में बने एसजी टेस्ट गेंद का इस्तेमाल जारी रखना चाहते है चौधरी ने इशारा दिया कि दलीप ट्राफी को एकबार फिर दिन-रात्रि प्रारूप में गुलाबी गेंद से खेला जाएगा  नये स्थलों पर मैच करने का बीसीसीआई का अनुभव अच्छा रहा है

इस मौके पर महिला क्रिकेट के बारे में भी चर्चा हुई  समिति का मानना था कि खेल को लोकप्रिय बनाने नए प्रतिभाओं की पहचान के लिए बीसीसीआई को सीमित ओवरों के मैच खेलने पर ध्यान देना चाहिए

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...