Saturday , September 22 2018
Loading...
Breaking News

रक्षा मंत्रालय खरीदेगा घरेलू हथियार

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बोला कि राष्ट्र में जिस तरह सुरक्षा की चुनौती है, उस लिहाज से रक्षा उपकरण तैयार करने वाली विदेशी कंपनियों की तरह घरेलू उद्यमियों को भी बराबर का सम्मान मिलना चाहिए. कर्नाटक  यूपी में डिफेंस कॉरिडोर स्थापित करने का यही उद्देश्य है. इनकी स्थापना के बाद रक्षा मंत्रालय घरेलू हथियारों को खरीदने पर अधिक जोर देगा. मीटिंग में CM योगी आदित्यनाथ ने निवेशकों को यूपी में सुरक्षित उद्योग का भरोसा दिलाया.
Image result for रक्षा मंत्रालय खरीदेगा घरेलू हथियार

सोमवार को आयोजित यूपी डिफेंस कॉरिडोर की मीटिंग में रक्षा मंत्री ने बोला कि चेन्नई के पास आयोजित डिफेंस एक्सपो (आर्म्स उपकरणों की प्रदर्शनी) में पहली बार 45 फीसदी तक उत्पादक हमारे रहे जो उच्च गुणवत्ता के उत्पाद तैयार करते हैं. डिफेंस एक्सपो में छोटे- बड़े उद्यमियों को साथ-साथ डिस्प्ले का मौका दिया, जिससे छोटे उद्यमियों को फायदा हुआ. बुंदेलखंड में डिफेंस कॉरिडोर की घोषणा के बाद से ही लगातार रक्षा मंत्रालय  प्रदेश के ऑफिसर कई बार मीटिंग कर चुके हैं, जिसके सुखद परिणाम आए है.

कॉरिडोर में बड़े उद्यमियों को छोटों को साथ लेकर कार्य करना होगा, तभी सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे. उन्होंने बोला कि कॉरिडोर में कार्य कराने से पहले उद्यमी युवाओं को प्रोत्साहित करें.उनके बीच जाकर समझाएं कि डिफेंस कॉरिडोर होता क्या है? डिफेंस कॉरिडोर की मॉनीटरिंग पीएम मोदी स्वयं कर रहे हैं.

Loading...

उद्यमियों की समस्याएं दूर करने के लिए बन रही अलग नीति : योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मीटिंग में बोला कि प्रदेश में उद्यमियों की समस्याएं दूर करने के लिए अलग नीति बन रही हैं. इसके लिए सिंगल विंडों की व्यवस्था होगी. निवेशकों को कोई समस्या नहीं आने दी जाएंगी. झांसी में डिफेंस कॉरिडोर बनने के बाद बुंदेलखंड का पिछड़ापन  आर्थिक गरीबी दूर होंगी. एरिया के युवाओं को अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा  पलायन रुकेगा.उन्होंने बोला कि प्रदेश में हार्डवेयर, लेटर, मेटल का कार्य बहुत होता है. यहां मार्केटिंग  ब्राडिंग हो जाए तो इस उद्योग को  गति मिल जाएगी.

सकारात्मक माहौल बनाना होगा : उमा भारती
मीटिंग में मौजूद केंद्रीय पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री उमा भारती ने बोला कि समान हालात भौगोलिक स्थिति के कारण बुंदेलखंड का इजराइल की तर्ज पर विकास संभव है. उन्होंने बोला कि यहां के जनप्रतिनिधि लोगों में सकारात्मक माहौल बनाएं, ताकि डिफेंस कॉरिडोर के साथ ही फूड प्रोसेसिंग पार्क  स्किल डेवलपमेंट को जोड़कर एरिया के विकास को गति दी जा सके. बुंदेलखंड के अधिकतर लोग दिल्ली में बुरे हालातों में कार्य कर रहे हैं. उक्त परियोजनाओं पर समय से कार्य पूरा हो जाएं तो हर हाथ को कार्य बुंदेलखंड में मिल जाएगा.

loading...

एक महीने में निकलेगी सूचना
अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त डॉ अनूपचंद्र पांडे ने बोला कि बुंदेलखंड में प्रचुर मात्रा में कच्चा मैटेरियल उपलब्ध है. कॉरिडोर में बुंदेलखंड के सातों जिले हैं. तीन हजार हेक्टेयर से ज्यादा भूमि चिह्नित कर ली गई है. एक महीने में सूचना निकलेगी. 31 जुलाई तक प्रस्तावित परियोजना कर रिपोर्ट तैयार हो जाएगी. 31 अगस्त तक जमीन तय हो जाएगी. आगरा एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के माध्यम से 24 घंटे आयात किया जा सकता है.

क्राफ्ट मेला मैदान में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बोलाकि कॉरिडोर में बनने वाले सेना के उत्पादों को रक्षा मंत्रालय खरीदेगा. इससे बुंदेलखंड के युवाओं को रोजगार मिलेगा. रक्षा मंत्री ने बोला कि फिक्की, एसोचेम, सीआईआई आदि संस्थाओं को बुंदेलखंड लाकर यहां के उद्योगपतियों से बात कराएंगे. कॉरिडोर में कार्य करने वाली कंपनियों को रक्षा मंत्रालय की तरफ से सेना के सामानों की सूची दी जाएगी.

जो उत्पाद कंपनियां बना सकती हैं, उनका ऑर्डर दिया जाएगा. बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे मार्ग पर टेस्टिंग लैब भी बनाई जाएंगी जिसके जरिये भी रोजगार के मौका खुलेंगे. CM योगी आदित्यनाथ ने बोलाकि प्रदेश गवर्नमेंट द्वारा किए गए विकास, योजनाओं की जानकारी देते हुए बोला कि अब बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को अंतिम रूप दिया जा रहा है. युवाओं को रोजगार दिलाने  किसानों की आय दोगुनी करने को लेकर गवर्नमेंट प्रतिबद्ध है. CM ने गवर्नमेंट द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में कराए गए विकास भी गिनाए.

क्षेत्रीय सांसद एवं केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने बोला कि डिफेंस कॉरिडोर में 20,000 करोड़ का निवेश होगा. साथ ही 50 लाख युवाओं को रोजगार मिलेगा. इस दौरान 82.05 करोड़ की 33 परियोजनाओं का शिलान्यास  34.21 करोड़ की चार परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया.

Loading...
loading...