Wednesday , April 25 2018
Loading...

17 दिनों में इंडियन सीमा में 21 बार की घुसपैठ

हिंदुस्तान की ओर से लाख दबाव बनाने के बावजूद  लद्दाख  अरुणाचल प्रदेश में सीमा की सुरक्षा में तैनात ITBP की ओर से बोला गया है कि चाइना ने 17 दिनों में 21 पर इंडियन सीमा में घुसपैठ की है हालांकि ITBP के विरोध के बाद वे लौट गए ZEE न्यूज के पास मौजूद ITBP की रिपोर्ट में बोला गया है कि मुताबिक 7 बजे गाड़ी लेकर करीब 14 किलोमीटर इंडियन सीमा में आ गए थे ITBP के जवानों की मुस्तैदी देखकर वे बैरंग लौट गए

Image result for 17 दिनों में इंडियन सीमा में 21 बार की घुसपैठ

ITBP ने गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट
रिपोर्ट में बोला गया है कि चीनी सैनिक के जवान 18 मार्च, 21 मार्च, 24 मार्च  30 मार्च को दो बार 8 किलोमीटर अंदर इंडियन एरिया में घुस आए थे इसके अतिरिक्त एक दिन प्रातः काल करीब 8.30 बजे लद्दाख के ट्रैक जंक्शन में चीनी सैनिक दो हेलीकॉप्टर लेकर इंडियन सीमा में घुस आएयही हेलीकॉप्टर लद्दाख के Burtse तक गए  करीब 18 किलोमीटर हिंदुस्तान के एयर स्पेस में रहेITBP के विरोध के बाद चीनी हेलीकॉप्टर को लौटना पड़ा

गृह मंत्रालय को सौंपी गई ITBP की रिपोर्ट में बोला गया है कि चीनी सेना 29 मार्च  30 मार्च को अरुणाचल प्रदेश के असफिला इलाके में 4 किलोमीटर अंदर तक आ गई थी 22 मार्च को अरुणाचल के डिचु में 6 बजकर 10 मिनट पर चीनी सैनिक 250 मीटर इंडियन सीमा में LAC क्रॉस कर दाखिल हुए ITBP से कहासुनी के बाद चीनी सैनिक कुछ घंटे के बाद वापस लौटे इसी तरीके से कई  मौकों पर चीनी सैनिकों ने इंडियन सीमा में घुसपैठ की प्रयास कर चुके हैं

मालूम हो कि पिछले वर्ष लद्दाख एरिया का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें चीनी सैनिक इंडियनजवानों पर पत्थर फेंककर हमला कर रहे थे एक अन्य वीडियो में LAC के पास इंडियन सैनिकों के साथ चीनी जवान हाथापाई कर रहे थे इसके अतिरिक्त चाइना अरुणाचल प्रदेश के डोकलाम में घुसपैठ की कई बार प्रयास कर चुका है साथ ही वह इस इलाके में सड़क निर्माण भी करा रहा था, जिसे हिंदुस्तान के ऐतराज के बाद रोकना पड़ा

एक तरफ घुसपैठ, दूसरी तरफ वार्ता करने की दे रहा न्यौता
एक तरफ चाइना इंडियन सीमा में घुसपैठ की आदतों से बाज नहीं आ रहा है, दूसरी तरफ वह वार्ता के जरिए सीमा टकराव सुलझाने की बातें कर रहा है हाल ही में चाइना ने हिंदुस्तान से सीमा टकराव पर हल्ले (हाइप) के बजाए सीमावर्ती इलाके में शांति बनाए रखने के लिए बीजिंग के साथ मिलकर कार्य करने का आग्रह किया है

यह भी पढ़ें:   प्रद्युम्न हत्‍याकांड में आया ये नया मोड़
Loading...
loading...

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने यह टिप्पणी चीनी सैनिकों द्वारा कथित तौर पर अरुणाचल प्रदेश में इंडियन जवानों की गश्त को लेकर असहमति जताने के बाद की है

गेंग ने कहा, “मुझे चीन-भारत पर (मौजूदा) स्थिति के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं है चाइना की स्थिति चीन-भारत सीमा पर एक समान और स्पष्ट रही है चाइना गवर्नमेंट ने तथाकथित अरुणाचल प्रदेश को कभी मान्यता नहीं दी है ”

उन्होंने कहा, “चीन और हिंदुस्तान सीमा मुद्दों को हल करने के लिए परामर्श और वार्ता में लगे हुए हैं निष्पक्ष और दोनों पक्षों द्वारा स्वीकार्य निवारण की तलाश कर रहे हैं ”

यह भी पढ़ें:   नवविवाहित जवान अब अधिक दिन तक परिवार के साथ बिता पाएंगे समय

उन्होंने कहा, “इस मुद्दे के लंबित रहने के दौरान, हम उम्मीद करते हैं कि दोनों पक्ष समझौतों का पालन करेंगे मुद्दे को प्रचारित (हाइप) करने के बजाय हिंदुस्तान को चाइना के साथ इलाके में शांति और स्थिरता पर कार्य करना चाहिए ”

एक रिपोर्ट के अनुसार, चीनी सेना ने बीते महीने इंडियन जवानों पर चीनी एरिया में दाखिल होने का आरोप लगाया था इंडियन पक्ष ने इन आरोपों को खारिज किया है चाइना अरुणाचल प्रदेश पर अपना दावा करता है  इसे दक्षिण तिब्बत कहता है

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...