Thursday , September 20 2018
Loading...

एनसीईआरटी किताबों में मिलेगी पोक्सो एक्ट की जानकारी

एनसीईआरटी किताबों के पहले पन्ने पर अब स्कूली विद्यार्थी पॉक्सो एक्ट के बारे में पढ़ सकेंगे. नये सत्र से इन किताबों के माध्यम से अच्छे बुरे स्पर्श और चाइल्ड हेल्पलाइन के बारे में जानकारी मिलेगी. यह पहल केंद्रीय महिला बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने की थी. दरअसल, उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर से किताबों में पोक्सो को शामिल करने की मांग की थी.एनसीईआरटी की छठीं से बारहवीं तक की सभी किताबों के पहले पन्ने पर पोक्सो ई बॉक्स इंफॉर्मेशन दी गई है.
Image result for एनसीईआरटी किताबों में मिलेगी पोक्सो एक्ट की जानकारी

इस पन्ने पर रातदिन चलने वाली 1098 चाइल्ड हेल्पलाइन समेत पोक्सो एक्ट के बारे में जानकारी दी गई है. इसमें विस्तार से बताया गया है कि शारीरिक शोषण होने पर विद्यार्थी किस प्रकार मदद, शिकायत ले सकते हैं. वहीं, शिक्षकों समेत अभिभावकों को भी ई-पोक्सो पर कैसे शिकायत करें कि जानकारी दी जाएगी. बता दें कि करीब पंद्रह लाख स्कूलों में 26 करोड़ विद्यार्थियों को इन पुस्तकों से शारीरिक शोषण के बारे में समझने का मौका मिलेगा.

सोशल साइंस की किताब में होगा चैप्टर 

Loading...

एनसीईआरटी की सोशल साइंस की किताब में पोक्सो या शारीरिक शोषण पर एक चैप्टर भी होगा, जिसके माध्यम से बच्चों को अच्छे  बुरे स्पर्श के बारे में समझाया जाएगा.

loading...
Loading...
loading...