Tuesday , September 25 2018
Loading...

सीबीएसई ने न्यायालय में दाखिल किया जवाब

सीबीएसई ने स्पष्ट कर दिया कि 10वीं गणित का पेपर लीक होने का असर कुछ ही सीमित एरिया में हुआ  उसका फायदा भी कुछ ही विद्यार्थियों को मिला है. ऐसे में अधिकांश बच्चों के हित को ध्यान में रखते हुए पुन: इम्तिहान न करवाने का फैसला लिया है. मात्र 12वीं इम्तिहान का एक पेपर पुन: करवाया जा रहा है.
Image result for सीबीएसई

सीबीएसई ने बृहस्पतिवार को बारहवीं और दसवीं कक्षा के पेपर लीक मामले में न्यायालय में जवाब दाखिल किया. कार्यवाहक मुख्य न्यायमूर्ति गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी हरि शंकर की खंडपीठ को सीबीएसई ने बताया कि पेपर लीक मामले में पुलिस में एफआईआर दर्ज करवाई गई है. इसकी जांच अभी चल रही है.

बताते चलें कि पेपर लीक मामले में दायर याचिका पर न्यायालय ने दो अप्रैल को नोटिस जारी कर सीबीएसई, दिल्ली पुलिस और मानव संसाधन मंत्रालय से 10 दिनों के भीतर जवाब मांगा था.एनजीओ सोशल जूरिस्ट ने याचिका दायर कर न्यायालय की निगरानी में केस की जांच करवाने तथा गणित की पेपर भी जल्द करवाने की मांग की थी. याचिका पर अब 16 अप्रैल को सुनवाई होनी है.

Loading...
Loading...
loading...