Thursday , November 15 2018
Loading...

बांग्लादेश में विद्यार्थियों का विरोध प्रदर्शन

ढाका: में झड़पों के बाद सोमवार(9 अप्रैल) राष्ट्र भर में हजारों विद्यार्थियों ने धरना दिया  प्रदर्शन किया विश्वविद्यालय में हुई झड़पों में कम से कम 100 लोग घायल हो गए थे सरकारी नौकरियों में विशेष समूह के पक्ष में भेदभाव का आरोप लगाते हुए विद्यार्थियों ने प्रयत्न किया उन्हें तितर बितर करने के लिए पुलिस ने रबर की गोलियां चलाईं तथा आंसू गैस के गोले छोड़े बांग्लादेश में तकरीबन एक दशक से सत्तारूढ़ पीएम शेख हसीना को जिन बड़े विरोध का सामना करना पड़ा है, यह उनमें से एक है

Image result for बांग्लादेश में विद्यार्थियों का विरोध प्रदर्शन

 

 

विरोध प्रदर्शन कर रहे विद्यार्थियों के नेताओं के साथ एक मंत्री के आज मुलाकात करने की आसारहै पुलिस  मीडिया में आयी खबरों में बोला गया है कि चिटगांव , खुलना , राजशाही , बारिसाल , रंगपुर , सिलहट  सावार में सरकारी विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों ने कक्षाओं का बहिष्कार कर धरना दिया  प्रदर्शन किया रविवार(9 अप्रैल) रात प्रारम्भ हुई झड़पें तड़के तक जारी थीं  ढाका विश्वविद्यालय रणक्षेत्र बना हुआ है

 

पुलिस निरीक्षक बच्चू मियां ने बताया कि 100 से अधिक लोग घायल हुए हैं उनका उपचार अस्पताल में किया जा रहा है  वह खतरे से बाहर हैं उन्होंने बताया कि हिंसा के विषय में 15 लोगों को गिरफ्तार कियागया है विरोध प्रदर्शन करने वालों के एक नेता हसन अल मामून ने बताया कि उनकी मांग शीर्ष पदों पर नौकरियों के लिए आरक्षण को कम कर 10 प्रतिशत कर दिया जाए

उन्होंने बताया, ‘‘ यह आरक्षण भेदभावपूर्ण है आरक्षण व्यवस्था के कारण 56 प्रतिशत नौकरियां राष्ट्र की जनसंख्या के पांच प्रतिशत लोगों के लिए रख दी जाती हैं  95 प्रतिशत लोग शेष 44 फीसदी नौकरियों के लिए जद्दोजहद करते हैं ’’ पाक से बांग्लादेश की आजादी के शिल्पी शेख मुजीब उर रहमान की बेटी तथा मुल्क की पीएम शेख हसीना ने आरक्षण में कटौती की मांग को खारिज कर दिया है

Loading...
Loading...
loading...