Wednesday , November 21 2018
Loading...

वार्षिक आंकड़ा तैयार करेगा एनसीआरबी

राष्ट्रीय क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) अब से पत्रकारों के विरूद्ध होने वाले अपराधों का भी वार्षिक आंकड़ा तैयार करेगी. इस वर्ष से प्रारम्भ होने वाले इन आंकड़ों में हत्या, मर्डर का प्रयास, हमला  धमकी जैसे मामले शामिल किए जाएंगे
Image result for crime scene
इंडियन प्रेस क्लब (पीसीआई) के प्रमुख गौतम लाहिड़ी को लेटर लिखते हुए गृह मंत्रालय ने बोला कि एनसीआरबी अब तक मासिक क्राइम आंकड़ों के माध्यम से मीडिया के लोगों पर हो रहे हमले के आंकड़ों को एकत्रित कर रहा है, जिनमें पंजीकृत मामलों  अरैस्ट व्यक्तियों को शामिल किया गया है. वहीं, ब्यूरो अब एक संशोधित प्रोफार्मा के माध्यम से पत्रकारों के विरूद्ध होने वाले अपराधों हत्या, मर्डर का प्रयास, हमला, धमकी आदि के मामले के आंकड़ों को एकत्रित करेगा.

इसमें दर्ज किए जा चुके मामले, उन मामलों में गिरफ्तारी  निपटाए जा चुके मामलों को शामिल किया जाएगा. पिछले वर्ष 27 अक्तूबर को पत्रकारों के एक प्रतिनिधिमंडल ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से ऐसी मांग की थी जिसके बाद यह फैसला सामने आया है.

Loading...
loading...