Wednesday , January 23 2019
Loading...
Breaking News

‘हम विनम्र बनते हैं व त्याग से शक्तिशाली’

मैं अपने साथ छह ईमानदार सेवकों को रखता हूं, जिन्होंने मुझे सब कुछ सिखाया है. उनके नाम हैं-क्या, क्यों, कब, कैसे, कहां  कौन. मैं स्वभाव से शब्दों का व्यापारी हूं. शब्द मानव द्वारा उपयोग की जाने वाली सबसे प्रभावी दवा है. मैं हमेशा हर आदमी की अच्छाइयों में यकीन करता हूं, इसने मुझे कई बार कठिनाइयों से बचाया है.

भगवान ने सभी मनुष्यों को प्यार करने के लिए यह धरती सौंपी है. हम अंतहीन संभावनाओं के शुरुआती पृष्ठ की प्रारंभिक कविता हैं. हमें पैसा, पद या महिमा की अतिरंजना से सावधान रहना चाहिए. किसी दिन आप किसी ऐसे आदमी से मिलेंगे, जिन्हें इन सबकी कोई परवाह नहीं होती है. उस दिन आपको यह एहसास होगा कि आप कितने गरीब हैं. हम मनुष्यों का ज़िंदगी बहुत संक्षिप्त होता है, लेकिन अपनी संक्षिप्तता में यह हमें कुछ शानदार  सार्थक क्षण प्रदान करता है.

ज्ञान से हम विनम्र बनते हैं  त्याग से शक्तिशाली. स्वयं को छोड़कर आप हर उस वस्तु को गंभीरता से लें, जिन्हें प्यार करते हैं. अगर आप अपनी इच्छित चीज नहीं प्राप्त करते हैं, तो निश्चित है कि आप उस वस्तु को गंभीरता से नहीं चाह रहे थे. इस धरती के लोगों की खुशी के लिए मैंने हमारे ज़िंदगीकी कहानियां लिखी हैं. अगर आप दो बजे प्रातः काल अपनी खिड़की खोलें  सुनने की प्रयास करें, तो हवा के कदमों की आहट सुनेंगे, जो सूरज को बुलाने के लिए जा रहा होता है.  चांदनी में पेड़ों को चमकते हुए देखकर गहन अंधेरी रात में आपको ऐसा लगेगा, मानो रात समाप्त हो गई है.

Loading...
Loading...
loading...