X
    Categories: राष्ट्रीय

प्रेमजाल में फंसाने के बाद करते थे ब्लैकमेल

प्रेमजाल में फंसाकर लोगों को ब्लैकमेल कर ठगी करने वाले गैंग को क्राइम शाखा ने दबोचा है.आरोपियों में एक लोकल टीवी चैनल का पत्रकार और तीन युवतियों समेत छह लोग शामिल हैं. पुरुष आरोपियों की पहचान मास्टर माइंड मो समीर सिद्दीकी, संजय उर्फ साहिल मलिक  सूरज के रूप में हुई है.

पुलिस की मानें तो गैंग लोगों को प्रेमजाल में फंसाकर एक फ्लैट में बुलाता था. वहां आपत्तिजनक स्थिति में उनकी फोटो और वीडियो बना ली जाती थी. इसके बाद उन्हें ब्लैकमेल कर मोटी रकम वसूली जाती थी. अपराध शाखा के संयुक्त आयुक्त आलोक कुमार ने बताया कि कंप्यूटर प्रोफेशनल अरविंद गुप्ता (बदला हुआ नाम) ने क्राइम शाखा से जबरन वसूली की शिकायत की. अरविंद के मुताबिक, व्हाट्सऐप पर उससे दोस्ती कर कंप्यूटर अच्छा करने के लिए उसे केशवपुरम स्थित फ्लैट पर बुला लिया. वहां बुलाने वाली युवती आपत्तिजनक स्थिति में उसके सामने आ गई.

इसी दौरान उसके बाकी साथी भी आ गए. आरोपियों ने अरविंद की पिटाई कर उसके भी कपड़े उतरवाकर लड़की के साथ वीडियो बना ली. बाद में ब्लैकमेल कर उससे पांच लाख की मांग की. उससे 17 हजार रुपये छीनने के बाद एटीएम कार्ड से 25 हजार रुपये भी निकाल लिये. अरविंद से शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने छानबीन प्रारम्भ की. एक युवक जांच के लिए पहले फ्लैट पर भेजा गया. बाद में छापा मारकर तीनों आरोपियों और तीनों युवतियों को दबोच लिया गया.

Loading...

समीर खुद को पत्रकार बताकर मीडिया में समाचार छापने की बात करता था. वहीं साहिल खुद को पुलिसकर्मी बताकर बलात्कार के झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देता था. पुलिस ने समीर औरसाहिल को दो दिन की रिमांड पर लिया है, बाकी सभी को कारागार भेज दिया गया है. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि आरोपी पिछले बहुत ज्यादा समय से यह धंधा कर रहे थे. इनकी गिरफ्तारी से इस तरह के सात मामले सुलझे हैं.

loading...
Loading...
News Room :

Comments are closed.