Monday , November 19 2018
Loading...
Breaking News

कुलदीप सिंह सेंगर ने ‘खुद पर लगे आरोप’ पर कही ये बात

यूपी के उन्नाव जिल में बांगरमऊ विधानसभा सीट से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए एक महिला ने रविवार को सीएम आवास के बाहर परिवार संग आत्मदाह का प्रयास किया। परिवार का आरोप है कि शिकायत करने के बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। कुलदीप सेंगर ने खुद पर लगे आरोपों के जवाब देते हुए कहा कि…

 Image result for कुलदीप सिंह सेंगर

1- विधायक कुलदीप सेंगर ने कहा कि महिला द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं, मामले की स्पष्ट जांच करते हुए दोषी के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए। विधायक ने कहा कि आरोप लगाने वाली महिला के भाई हिस्ट्रीशीटर हैं। माखी थाने में महिला के भाईयों पर कई मुकदमें दर्ज हैं। 26 मुकदमें एक भाई के ऊपर हैं और 16 मुकदमें दूसरे भाई के ऊपर हैं।

Loading...

2- विधायक ने कहा कि आरोप लगाने वाली महिला ने 20/6 को एक मुकदमा कायम कराया था। जिन लोगों पर इस महिला ने आरोप लगाए थे पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उन सभी आरोपियों को पकड़ा। जिसमें 161 और 164 के बयान हुए थे। इस मामले में दो निर्दोष लोगों को लिखाया गया था। जिसमें एक मां और उसकी बेटी थी। पुलिस ने उन दोनों को विवेचना में निर्दोष पाया था।

loading...

3- विधायक का कहना है कि उन दोनों निर्दोष मां-बेटियों को पुलिस द्वारा विवेचना में दोषी न पाते हुए छोड़ देने के कारण इस महिला को ऐसा लगता है कि मैने उन दोनों मां-बेटियों की सिफारिश की है। इसके बाद से महिला ने मुझे बदनाम करने के लिए सोशल मीडिया पर मेरे खिलाफ दुष्प्रचार करना शुरू कर दिया। जिसकी समय-समय पर मेरे कार्यकर्ताओं ने संबंधित पुलिस स्टेशन पर मानहानि के मुकदमें भी लिखवाए।

4- विधायक ने कहा कि मुझे फसाने के लिए इस घटना को अंजाम दिया गया है। विधायक ने कहा कि इन्हीं लोगों ने सन 2002 में मुझे और मेरे कार्यकर्ताओं को फसाने के लिए सतीश राजपाल उर्फ गुल्लू बाबू  के लड़के का अपहरण किया था। जब मामले की हकीकत सामने आई तो यही लोग दोषी पाए गए।

5- विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने कहा कि इस मामले की जांच कराई जाए साथ ही यह भी पता लगाया जाए कि किन लोगों ने इनसे बात की है। विधायक ने कहा कि आत्मदाह करके मुझे फसाने के लिए प्रेरित करने वालों की भी जांच की जानी चाहिए। विधायक ने कहा कि इस मामले की तह तक जांच की जाए और दोषी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए।

Loading...
loading...