Monday , November 19 2018
Loading...

जयपुर सेंट्रल कारागार से ठग रैकेट पकड़ाया

राजस्थान : चुरू पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है पुलिस ने ऐसे ठग रैकेट का पर्दाफाश किया है, जिसका संचालन जयपुर सेन्ट्रल कारागार में बन्द मुखिया मोबाइल से कर रहा था इस रैकेट पर राज्य में ठगी के 24 मामले दर्ज हैं

Image result for जयपुर सेंट्रल कारागार

मिली जानकारी के अनुसार ये रैकेट लोगों को अपने जाल में फंसाकर ठगी करता था इस रैकेट पर चूरू, जयपुर, सीकर, सिरोही, बून्दी सहित प्रदेश के कई जिलों में ठगी के 24 मामले दर्ज हैं चूरू कोतवाली पुलिस को इनकी जनवरी से तलाश थी चूरू कोतवाली थानाधिकारी रमेश कुमार सरवटा ने बताया कि साइबर शाखा की मदद से तथ्य जुटाकर जब पुलिस ने अनुमोल रतन उर्फ शलारू को दबोचा तो उसने कई राज उगल दिए शलारू अपने रैकेट के लिए शिकार तलाशने  ठगी के शिकार लोगों से जमा रकम संग्रह का कार्य करता था  जबकि जयपुर सेन्ट्रल कारागार में बन्द गैंग के मुखिया बून्दी जिले का राजीव कुमार जैन  सीतापुर उत्तरप्रदेश का मोनू उर्फ धीरज शर्मा थे

Loading...

बता दें कि शलारू शिकार किए जाने लोगों की जानकारी राजीव जैन  अपने भाई धीरज शर्मा तक पहुंचाता था इसके बाद कारागार से मोबाइल से राजीव जैन  धीरज शर्मा द्वारा लोगों को फर्जी ऑफिसर बनकर कॉल करते थे  उसे झांसे में लेकर शलारू द्वारा बताये गये अकाउन्ट नम्बरों में रुपया जमा करने को बोला जाता था राजस्थान में यह गैंग अब तक करोडों रुपये की ठगी कर चुका है इस घटना ने जयपुर सेन्ट्रल कारागार की सुरक्षा पर भी सवालिया निशान लगा दिया है, क्योंकि यहां कारागार से मोबाइल से गैंग संचालित हो रहा था आरोपियों के पकड़े जाने के बाद प्रदेश के सभी थानों में ठगी से सम्बन्धित मामलों की जानकारी जुटाई जा रही है

loading...
Loading...
loading...