Monday , September 24 2018
Loading...
Breaking News

ब्रिटेन स्थित रूसी दूतावास ने लंदन पर जांच रोकने का लगाया आरोप

लंदन: ने ब्रिटेन पर आरोप लगाया कि वह अपनी सरजमीं पर रूसियों को निशाना बनाए जाने की जांच से जुड़ी सूचना को जानबूझ कर रोक रहा है दोनों राष्ट्रों के बीच जुबानी जंग जारी रहने के बीच यह बयान आया हैदूतावास ने बोला कि इसने ब्रिटिश विदेश ऑफिस से लंदन में रूसी कारोबारी निकोलई ग्लुशकोव की 12 मार्च को हुई मौत की विस्तृत सूचना मांगी थी पोस्टमार्टम के मुताबिक 68 वर्षीय कारोबारी ने धन शोधन  धोखाधड़ी को लेकर रूस में कारागार की सजा सुनाए जाने के बाद ब्रिटेन में राजनीतिक शरण ली थी

Image result for ब्रिटेन स्थित रूसी

ब्रिटेन के शहर सेलिसबरी में पूर्व डबल एजेंट सर्गेई स्क्रिपल  उनकी बेटी यूलिया को जहर दिए जाने के एक सप्ताह बाद यह घटना हुई थी ब्रिटेन ने इस हमले के लिए मास्को को जिम्मेदार ठहराया था जबकि रूस ने अपनी संलिप्तता से मना किया है दूतावास ने एक बयान में बोला कि मि  ग्लुशकोव की मौत के करीब एक महीने बीत चुके हैं  जैसा कि सर्गेई  यूलिया स्क्रिपल के मामले में हुआ , ब्रिटेन ने कोई सूचना मुहैया नहीं की

 

हम यही कहेंगे कि हमारे बार – बार के अनुरोध के बावजूद जानबूझ कर जवाब नहीं दिया जा रहा बयान में बोला गया है कि रूस के लिए यह मर्डर आपराधिक  राजनीतिक मायने रखती है इस बीच, इस सप्ताह स्क्रिपल के सेहत में  सुधार देखने को मिला है

रूस ने UN में ब्रिटेन पर साधा निशाना
रूस ने संयुक्त देश सुरक्षा परिषद में शुक्रवार (6 अप्रैल) को ब्रिटेन के विरूद्ध निशाना साधते हुए अमेरिकी फंतासी फिल्म ‘‘एलिस इन वंडरलैंड’’  रूसी साहित्य का जिक्र करते हुए इंग्लैंड में पूर्व डबल एजेंट को जहर देने के आरोपों को खारिज किया संयुक्त देश में रूस के राजदूत वैसिली नेबेंजिया ने परिषद में कहा, ‘‘यह एक तरह का बेहूदा थिएटर जैसा है क्या आप इससे बेहतर फर्जी कहानी लेकर नहीं आ सकते थे? हमने अपने ब्रिटिश सहकर्मियों को बता दिया है कि आप आग से खेल रहे हैं  आपको इस पर पछताना पड़ेगा ’’

Loading...

इंग्लैंड के सालिसबरी शहर में चार मार्च को पूर्व डबल एजेंट सर्गेइ स्क्रिपल  उनकी बेटी यूलिया एक बेंच पर गंभीर हालत में मिले थे ब्रिटेन ने इस हमले के लिए रूस को जिम्मेदार ठहराया था लेकिन रूस ने किसी तरह की संलिप्तता से मना कर दिया ब्रिटेन ने बोला कि पूर्व जासूस पर सोवियत संघ द्वारा बनाए गए नर्व एजेंट से हमला किया गया था इस टकराव से राजनयिकों के निष्कासन का सिलसिला प्रारम्भ हो गया  रूस तथा पश्चिमी राष्ट्रों के बीच तनाव पैदा हो गया

loading...
Loading...
loading...