Tuesday , November 20 2018
Loading...

पाक में मीडिया पर पहरा, सेना व गवर्नमेंट की पोल खोलने पर न्यूज को कियाबैन

पाकिस्तान के प्रमुख चैनलों में से एक जियो टीवी को ब्लैकआउट का सामना करना पड़ रहा है माना जा रहा है कि गवर्नमेंट  सेना के विरूद्ध खबरें दिखाने पर चैनल पर ये कार्रवाई की गई है दशा ये हैं कि पाक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी  सर्वोच्च न्यायालय में मामला पहुंचने पर भी चैनल को अब तक ऑन एयर नहीं किया गया है पाक में करीब 80 फीसदी इलाके में चैनल को नहीं दिखाए जाने की बात खुद नेटवर्क के चीफ एडिटर ने द न्यूयॉर्क टाइम्स को दिए एक साक्षात्कार के दौरान स्वीकारी है हालांकि, आर्मी की ओर से अब तक मामले में कोई रिएक्शन नहीं दी गई है इंटरव्यू के दौरान जांग ग्रुप के मीडिया चैनल जियो टीवी के चीफ एडिटर मीर इब्राहिम रहमान ने बताया कि पाक में करीब 80 फीसदी इलाकों में चैनल ऑफ एयर है द न्यूयॉर्क टाइम्स ने इस कदम को पाकिस्तानी आर्मी के मीडिया  अन्य नागरिक संस्थानों पर काबू करने के तहत उठाया गया एक कदम बताया है

Image result for पाकिस्तान police

 

मार्च से जारी है चैनल का ब्लैकआउट
बताया जा रहा है कि जियो टीवी को मार्च के पहले सप्ताह से राष्ट्र के उन क्षेत्रों में दिखाना बंद कर दिया गया जहां सेना की छावनी है या जो एरिया आर्मी के कंट्रोल में हैं इसके बाद अन्य क्षेत्रों में भी केबल ऑपरेटर्स ने चैनल को ब्लॉक करना प्रारम्भ कर दिया

Loading...

गृहमंत्री एहसान इकबाल ने इस ब्लैकआउट के पीछे पाक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी मिनिस्ट्री ऑफ इंफॉर्मेशन के किसी भी तरह की किरदार से मना किया है रेगुलेटरी अथॉरिटी ने मामले में दो अप्रैल को एक बयान जारी करते हुए केबल ऑपरेटर्स को चैनल फिर से ऑन एयर करने के आदेश दिए थेपाकिस्तानी अखबार द डॉन के मुताबिक, इस मामले में भले ही रेगुलेटरी अथॉरिटी ने नोटिस जारी किया हो  मामला सर्वोच्च कोर्ट तक पहुंच गया हो, लेकिन किसी को भी ये नहीं पता है कि चैनल को आधिकारिक तौर पर फिर से ऑन एयर कैसे करवाया जाए

loading...

आर्मी को पोल खोलने की मिली सजा
जियो टीवी पर करीब एक महीने से लगे बैन के पीछे की एक चौंकाने वाली वजह सामने आई है लोकलमीडिया के अनुसार जियो टीवी  गवर्नमेंट के बीच में बहुत ज्यादा समय से विवाद की स्थिति बनी हुई थीचैनल ने कई बार गवर्नमेंट के खिलाफ खबरें दिखाते हुए पूर्व पीएम नवाज शरीफ के पक्ष में खबरें दिखा चुका था शरीफ को 2017 में करप्शन के आरोपों के बाद पद से हटा दिया गया था उन्होंने आरोप लगाया था कि सेना  गवर्नमेंट ने मिलकर उनके विरूद्ध साजिश रची है

जियो चैनल से पाक आर्मी भी नाराज चल रही थी चैनल ने कई बार आतंकवादियों को लेकर सेना के रवैये आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा के घरेलू  विदेशी नीतियों को लेकर भी आलोचना की थी इसके बाद से चैनल का ब्लैकआउट प्रारम्भ हो गया

जियो टीवी के ब्लैकआउट पर जताई चिंता
पाक में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कार्य करने वाली एक समिति ने जियो टीवी के ब्लैकआउट को अधिकारों का हनन बताया है उन्होंने स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए दशा सुधारने का सुझाव दिया है समिति की ओर से बोला गया कि ये दंग करने वाला है कि किसी में इतनी हिम्मत नहीं है कि कोई जियो टीवी पर लगे बैन लगाने वालों के बारे में खुलकर बात कर सके

Loading...
loading...