Tuesday , November 13 2018
Loading...

मायावती ने BJP के दलित सांसदों को बताया ‘नौटंकीबाज’

की प्रमुख मायावती ने भाजपा के दलित सांसदों को नौटंकीबाज बोला है साथ ही बोलाकि दलितों की ओर से बुलाया गया ‘भारत बंद’ पूरी तरह पास रहा है इसी से घबराकर भाजपा के दलित सांसद नौटंकी कर रहे हैं मायावती ने आरोप लगाया कि पिछले चार वर्ष से भाजपा के राज में दलितों पर अत्याचार हो रहे हैं रोहित वेमुला  ऊना में दलितों को प्रताड़ित किया गया, लेकिन भाजपा के इन दलितों सांसदों ने कुछ नहीं कहा अब इन्हें 2019 के लोकसभा चुनाव में पराजय का भय सता रहा है, इसलिए वे अब लेटर लिखकर अपना विरोध जता रहे हैं

Image result for मायावती ने BJP के दलित सांसदों को बताया 'नौटंकीबाज'

बीएसपी सुप्रीमो ने बोला कि दलितों  आदिवासियों के सामने खोने के लिए कुछ नहीं है उन्होंने भाजपा को हिदायत देते हुए बोला कि दलितों के मुद्दे पर खेलना आग से खिलवाड़ करने के समान हैअगर ये नहीं सुधरे तो इनकी हालत अच्छा वैसी ही हो जाएगी जैसे 1975 में इमरजेंसी के बाद कांग्रेस पार्टी की हुई थी

Loading...

बीएसपी सुप्रीमो ने बोला कि आज भाजपा के दलित सांसद अपने समाज के साथ भेदभाव  प्रताड़ना की बातें कर रहे हैं, लेकिन मैं जब संसद में इस मुद्दे को उठा रही थी तो कोई दलित सांसद सामने नहीं आया, अब ये लोग नौटंकी कर रहे हैं उत्तर प्रदेश समेत राष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों मं संविधाना निर्माता चिकित्सकभीम राव राम आंडबेडकर की मुर्तियां तोड़े किए जाने की पर भी मायावती ने मौजूदा गवर्नमेंट के प्रति नाराजगी जाहिर की हैं

loading...

BJP जनता को समझ रही मूर्खों  की जमात : मायावती
दो दिन पहले ही राष्ट्र की विपक्षी पार्टियों को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की ओर से ‘सांप-छछूंदर, कुत्ता-बिल्ली’ कहे जाने की भर्त्सना करते हुए बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने बोला कि भाजपासत्ता के अहंकार और नशे में राष्ट्र की जनता को ‘मूर्खो की जमात’ समझने की भूल कर रही है, जबकि होशमंद जनता लोकसभा चुनाव से पहले ही उसे बार-बार ठोकरें मार रही है

शाह ने विपक्षी एकता के प्रयासों पर कटाक्ष करते हुए शुक्रवार को ओडिशा की एक रैली में बोला था, ‘देश में नरेंद्र मोदी की जो बाढ़ आई है, उसके भय से सांप, बिल्ली, नेवला, कुत्ते सब एक ही नाव पर सवार हो रहे हैं ‘

उनके इस बयान पर मायावती ने बोला कि कुछ इसी प्रकार की अपमाननक, आपत्तिजनक और हीन भावना वाली ‘संघी भाषा’ का प्रयोग यूपी के गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव के दौरान CM योगी आदित्यनाथ ने भी किया गया था, जिसके लिए जनता ने उन्हें जोरदार चाबुक लगाकर करारी पराजय का कड़ा सबक सिखाया है

उन्होंने कहा, “जनता की चाबुक लगी, फिर भी भाजपा का शीर्ष नेतृत्व अपनी आपराधिक मानसिकता औरसंघी चाल और चरित्र से मजबूर नजर आता है, जिसे राष्ट्र की जनता कतई नजरअंदाज करने वाली नहीं है ”

मायावती ने बोला कि शाह का बयान यह साबित करने को बहुत ज्यादा है कि गुरु नरेंद्र मोदी और शिष्य अमित शाह के नेतृत्व में पार्टी का स्तर किस हद तक नीचे गिर गया है आज राष्ट्र की जनता के सामने यह प्रश्न खड़ा हो गया है कि क्या ऐसी घोर असभ्यता और बदजुबानी राष्ट्र की सत्ताधारी पार्टी को शोभा देती है? लोकतंत्र में विपक्ष का भी महत्व है, लेकिन जिन लोगों को तमीज ही नहीं है, उन्हें क्या बोला जाए

शाह ने केंद्र में बहुमत की अपनी पहली गवर्नमेंट बनाने को महान उपलब्धि बताया था, जिस पर मायावती ने बोला कि खासकर अमित शाह और नरेंद्र मोदी के अहंकारी और जनविरोधी हठधर्मी रवैये के कारण ही बीजेपी केंद्र में अकेली पड़ गई है उसके सहयोगी दल आज उसके विरूद्ध बगावत का झंडा लेकर खड़े हैं

Loading...
loading...