X
    Categories: पोल खोलप्रादेशिक

सुप्रीम न्यायालय में कल अयोध्या मामले की हुई सुनवाई

सुप्रीम न्यायालय में कल अयोध्या मामले की सुनवाई हुई ,जिसमें मुस्लिम पक्षकारों के वरिष्ठ एडवोकेट राजीव धवन ने राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि टकराव को सीधे पीठ को भेजने पर जोर दिया बहस के दौरान सरकारी पक्ष के वरिष्ठ वकीलों से हुई उनकी तकरार से न्यायालय का माहौल तल्ख़ हो गया कोर्ट ने अयोध्या टकराव का मामला सीधे पीठ को भेजने से इंकार कर दिया

उल्लेखनीय है कि मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ के समक्ष मुस्लिम पक्षकारों की ओर से पेश हुए वरिष्ठ एडवोकेट राजीव धवन ने न्यायालयसे बोला कि बहुविवाह मामले को जब सीधे बड़ी पीठ के पास भेजा जा सकता है, तो राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि टकराव मामले को क्यों नहीं ? पूरा राष्ट्र इस पर जवाब चाहता है सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों के वकीलों के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई  करीब 45 मिनट तक न्यायालय में हंगामा होता रहा जजों के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ

कहा जा रहा है कि गवर्नमेंट की ओर से पेश अलावा सॉलिसिटर जनरल मनिंदर सिंह ने मुस्लिम पक्षकारों के वरिष्ठ एडवोकेट राजीव धवन से थोड़ा हटने के लिए कहा इस पर धवन भड़क गए  दोनों के बीच तीखी बहस होने लगी धवन की एडिशनल सॉलिसिटर तुषार मेहता, पूर्व अटॉर्नी जनरल के परासरन, हिंदू पक्षकार के वरिष्ठ एडवोकेट केएस वैद्यनाथ से भी गरमा गरम बहस हुई आखिर पीठ के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ उधर , न्यायालय ने अयोध्या टकराव मामले को सीधे बड़ी पीठ को भेजने से इंकार कर दिया न्यायालयने स्पष्ट शब्दों में बोला कि वह पक्षकारों की दलीलों को सुनने के बाद ही निर्णय लेंगे, कि इस मामले को बड़ी पीठ के पास भेजा जाना चाहिए या नहीं

Loading...
Loading...
News Room :