Wednesday , November 21 2018
Loading...
Breaking News

जब जोधपुर के गैंगस्‍टर ने सलमान खान को जान से मारने की धमकी दी

में 5 वर्ष की सजा पाने के बाद सलमान खान जोधपुर सेंट्रल कारागार में कैद हैं जमानत पाने के लिए उनके वकीलों ने सेशंस न्यायालय में अपील की है इस पर सुनवाई शनिवार को होगी हालांकि इस बीच ने बोला है कि उनकी जमानत न कराने के लिए धमकियां मिल रही हैं न्‍यूज एजेंसी ANI के मुताबिक बोरा शुक्रवार को कहा, ‘कल मुझे कई धमकी भरे इंटरनेट कॉल  एसएमएस आए हैं कि मैं सलमान की जमानत अर्जी के लिए न्यायालय न जाऊं ‘

Image result for जब जोधपुर के गैंगस्‍टर ने सलमान खान को जान से मारने की धमकी दी

इससे पहले सलमान खान को कुछ महीने पहले भी जोधपुर न्यायालय में गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्‍नोई ने जान से मारने की धमकी दी थी दरअसल इसी वर्ष पांच जनवरी को जब जोधपुर न्यायालय में इसी मामले की सुनवाई के लिए सलमान खान पहुंचे थे तो उस वक्‍त वहां गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्‍नोई को भी किसी अन्‍य मामले की पेशी के लिए लाया गया था दरअसल बिश्‍नोई समाज ने सलमान के विरूद्धकाले हिरण मामले में केस किया था  लॉरेंस भी इस समुदाय से ताल्‍लुक रखता है इसी संदर्भ में उस वक्‍त इस धमकी को देखा गया था

Loading...

उस दौरान लॉरेंस को यह कहते हुए सुना गया था कि सलमान खान को यहीं जोधपुर में मारा जाएगातब उनको हमारी वास्‍तविक पहचान के बारे में पता चलेगा पुलिस पर खुद को झूठे आरोपों में फंसाने का आरोप लगाते हुए उसने बोला था, ”यदि पुलिस चाहती है कि मैं कोई बड़ा क्राइम करूं तो इसी जोधपुर में मैं सलमान खान को मारूंगा ” हालांकि वहां मौजूद कुछ प्रत्‍यक्षदर्शियों के मुताबिक लोगों का ध्‍यान आकर्षित करने के लिए संभवतया गैंगस्‍टर ने इस तरह की धमकी दी थी बोलाजाता है कि वह भी इस तरह सलमान की तरह जोधपुर सेंट्रल कारागार में बंद है लॉरेंस बिश्‍नोई कुख्‍यात गैंगस्‍टर है  उस पर पंजाब-हरियाणा बेल्‍ट में फिरौती, हत्‍या की प्रयास जैसे 20 मामले चल रहे हैं

loading...

जमानत अर्जी पर फैसला
इस बीच काला हिरण शिकार मामले में  शुक्रवार को सेशंस न्यायालय ने इस मामले में सुनवाई पूरी कर ली, जिसके बाद उसने सीजेएम न्यायालय से केस के रिकॉर्ड मंगाए हैं यानी सलमान खान को एक  दिन जोधपुर सेंट्रल कारागार में कैदी नंबर 106 बन कर गुजारनी पड़ेगी

अदालत ने सलमान की जमानत पर निर्णय कल प्रातः काल 10.30 बजे तक सुरक्षित रख लियासलमान के एडवोकेट ने बोला कि इस मामले में चश्‍मदीद गवाह विश्‍व‍सनीय नहीं है  पूरा निर्णयपरिस्थितिजन्‍य है सुनवाई के दौरान सलमान के एडवोकेट ने दलील दी कि सलमान को शक का फायदा क्‍यों नहीं मिला?

बता दें कि सलमान के वकीलों ने दो अर्जियां दाखिल की थीं जिनमें एक जमानत याचिका थी दूसरी सलमान खान की सजा के निलंबन को लेकर दर्ज की गई थी इसमें पहले दोनों पक्षों ने सजा के निलंबन पर बहस की जिसके बाद जमानत याचिका पर दलीलें दी गईं इसके बाद न्‍यायालय ने दोनों मामलों में निर्णय के लिए शनिवार का दिन मुकर्रर किया है

इससे पहले सलमान की अर्जी पर सुनवाई के लिए सलमान के एडवोकेट हस्‍तीमल सारस्‍वत उनकी बहनें अलवीरा  अर्पिता न्यायालय पहुंच गईं थीं जोधपुर सेशंस न्यायालय में सलमान का केस 24वें नंबर पर लिस्टिड था वहीं, अभियोजन पक्ष की तरफ से सलमान की जमानत अर्जी का विरोध किया गया

कैदी नंबर-106
इससे पहले जोधपुर सेंट्रल कारागार में कैदी नंबर-106 के रूप में सलमान की पहली रात परेशानियों के बीच गुजरी शुक्रवार प्रातः काल न्यायालय जाने से पहले सलमान के एडवोकेट उनसे मिलने के लिए कारागार पहुंचे, इस दौरान उनके बॉडीगार्ड शेरा भी वहां मौजूद थे उल्‍लेखनीय है कि गुरुवार को जोधपुर की सीजेएम न्यायालय ने सलमान खान को 5 वर्ष की सजा सुनाई थी, जबकि उन पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया था, जिसके बाद सलमान खान के वकीलों की तरफ से सेशंस न्यायालय में जमानत की अर्जी दायर की गई थी

काला हिरण केस
सलमान खान, सैफ अली खान, तब्बू, नीलम, सोनाली बेंद्रे  जोधपुर निवासी दुष्यंत सिंह पर आरोप है कि उन्होंने 1  2 अक्टूबर 1998 को जोधपुर में देर रात लूणी थाना इलाके के कांकाणी गांव में दो काले हिरणों का शिकार किया था मामले में पेश किए गए गवाहों ने न्यायालय को बताया था कि सलमान खान ने हिरणों का शिकार किया तो उस समय ये सभी आरोपी जिप्सी गाड़ी में सवार थेउन्होंने बताया कि जिप्सी में मौजूद सभी सितारों ने सलमान को शिकार करने के लिए उकसाया था, जिसके बाद गोली की आवाज सुनकर सभी गांववाले वहां एकत्र हो गए थे गांव वालों के आने के बाद सलमान वहां से गाड़ी लेकर भाग गए थे  दोनों हिरण वहीं पड़े थे

Loading...
loading...