Saturday , February 16 2019
Loading...

जानिए किस बैंक से लिया कितना लोन

बिजली के केबल और उपकरण बनाने वाली वडोदरा की कंपनी डायमंड क्षमता इंफ्रास्ट्रक्चर (डीपीआईएल) पर बैंकों को 2655 करोड़ रुपये का चूना लगाने का आरोप है. CBIने इस कंपनी  निदेशकों के विरूद्ध अपराधी केस दर्ज कर दिया है. कंपनी पर आरोप है कि इसने बैंक के अफसरों के साथ मिलकर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर सैंकड़ों करोड़ रुपये का कर्ज ले लिया है.

Image result for जानिए किस बैंक से लिया कितना लोन

सीबीआइ ने गुरुवार को कंपनी के संस्थापक सुरेश नारायण भटनागर, उसके बेटे और प्रबंध निदेशक अमित, सुमित भटनागर के आवास और फैक्टियों पर छापा मारकर कई अहम दस्तावेज जब्त किए हैं. कंपनी ने 2008 से बैंक अफसरों और कर्मचारियों की मिलीभगत से सैकड़ों करोड़ के लोन पास कराए. फर्जी दस्तावेज, झूठे स्टॉक स्टेटमेंट, बैंक खातों और कंपनी की बैलेंस शीट के जरिए लोन लेते गए.

इस फर्म पर आरोप है कि इसने विभिन्न बैंकों के अधिकारियों के साथ मिलकर क्रेडिड फैसिलिटी को बढ़ावा दिया था. CBI के मुताबिक कंपनी लीड बैंकों को स्टॉक्स की गलत स्टेटमेंट दिया करती थी.इसमें वह 180 दिनों से अधिक के रिसिवेबल्स को 180 दिनों से कम के रिसिवेबल्स बनाकर दिखाया करती थी. इस तरह से कंपनी अपने कैश क्रेडिट खाते में अधिक पैसों की निकासी का अधिकार प्राप्त कर लेती थी.

कंपनी  उसके निदेशक टर्म लोन  क्रेडिट सुविधाएं भी पाने में पास रहे. कंपनी का नाम आरबीआइ की डिफॉल्टर सूची  एक्सपोर्ट क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन की सावधानी सूची में आने के बावजूद बैंकों ने उसकी क्रेडिट लिमिट बढ़ा दी. 2008 से जून 2016 तक भटनागर बंधुओं ने इस घोटाले को अंजाम दिया.

loading...