Monday , November 19 2018
Loading...

औनलाइन होम डिलीवरी के लिए फेसबुक-गूगल से किया करार

योग गुरु और पतंजलि आयुर्वेद के सह-संस्थापक बाबा रामदेव ने बृहस्पतिवार को घोषणा की कि उनकी कंपनी अगले वर्ष कपड़ा उत्पादन कारोबार में कदम रखेगी. एडवरटिजमेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एएएआई) द्वारा आयोजित ‘गोवा फेस्ट 2018’ में बोला कि लोग मुझसे पूछ रहे हैं कि आप अपनी कंपनी का जींस कब मार्केट में ला रहे हैं. इसलिए, हमने पारंपरिक परिधानों सहित बच्चों, पुरुषों तथा स्त्रियों के लिए कपड़ा उत्पादों को अगले वर्ष से मार्केट से उतारने का निर्णय किया है.
 Image result for ऑनलाइन होम डिलीवरी के लिए फेसबुक-गूगल से किया करार

रखा 5 हजार करोड़ का टारगेट
रामदेव के प्रवक्ता एस के तिजारावाला ने बोला कि वो अपने स्वदेशी कपड़े की दुकानें जल्द खोलने जा रही है. इन स्टोर में बच्चों, स्त्रियों  पुरुषों के लिए पूरी रेंज उपलब्ध होगी. कंपनी ने फिल्हालपहले वर्ष में बिक्री के लिए 5 हजार करोड़ रुपये का टारगेट रखा है. तिजारावाला ने बोला कि कंपनी सबसे पहले हाथ से बुने कपड़ों के अलावा, मशीन से बने कपड़ों को भी बेचेगी, जिसमें डेनिम से बने कपड़े भी शामिल होगें.

परिधान होगा नए स्टोर का नाम
तिजारावाला ने बोला कि उनके स्टोर का नाम परिधान होगा. शुरुआती चरण में 250 स्टोर खोले जाएंगे. इसके बाद इनका विस्तार किया जाएगा. पतंजलि के कपड़े बिग मार्केट सहित राष्ट्र के अन्य रिटेल आउटलेट्स जैसे कि खादी भवन से भी बेचे जाएंगे.

Loading...
आगे पढ़ें

बेचेंगे खादी उत्पाद, फैब इंडिया को देंगे टक्कर

बाबा रामदेव की ‘खादी’ के उत्पादन में बड़े स्तर पर उतरने की योजना है. अपने आयुर्वेदिक उत्पादों के लिए जानी जाने वाली पतंजलि अब स्वदेशी कपड़ों का उत्पादन करने वाली है. रामदेव का कहना है, ‘अगर हमारे राष्ट्र में फैब इंडिया जैसी विदेशी कंपनियां खादी प्रॉडक्ट्स बेच रही हैं तो यह महात्मा गांधी  उनकी राजनीतिक विचारधारा की मर्डर है. पतंजलि की कपड़ा सेक्टर के लिए बड़ी योजनाएं हैं. लंगोट से लेकर कोट तक हर वस्तु बनाई जाएगी.

मरीजों को ध्यान में रखकर बनाए जाएंगे कपड़े
बाबा रामदेव का कहना है कि वो विदेशी कंपनियों को हिंदुस्तान से भगाना चाहते हैं. पतंजलि का प्रोजेक्ट वो हर प्रोडक्ट बनाने का है जिसे विदेशी कंपनियां हिंदुस्तान में धड़ल्ले से बेच रही हैं. मेड इन इंडिया के उद्देश्य से प्रोडक्ट्स बनाने में लगे बाब रामदेव पहले से ही इंडियन बाजार में छाए हुए हैं.

loading...

खबरों की मानें तो पतंजलि न केवल जींस बल्कि कोट ले लेकर लंगोट तक मार्केट में लाने की तैयारी कर रही है. मरीजों को ध्यान में रखकर भी कपड़ों को बनाया जाएगा.

फेसबुक, गूगल से भी किया करार  
पतंजलि के उत्पादों को खरीदने में अगर कोई दिक्कत आ रही है तो घर बैठे आप फेसबुक या फिर गूगल से इसके लिए औनलाइन ऑर्डर कर सकेंगे. इसके लिए बाबा रामदेव ने दोनों बड़ी औनलाइनटेक कंपनियों से करार किया है.

टीवी  अखबार के बाद औनलाइन का किया रुख
बाबा रामदेव ने जब से पतंजलि को प्रारम्भ किया है, तब से उनका फोकस टीवी  अखबार में एडवरटाईजमेंट देने का रहा है. लेकिन अब औनलाइन पर भी कंपनी ने अपना फोकस प्रारम्भ कर दिया है.

Loading...
loading...