Friday , November 16 2018
Loading...

परमाणु हथियार बनाना चाहता है ईरान

यरुशलम: इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद के प्रमुख को ‘‘100 प्रतिशत यकीन’’ है कि ईरान परमाणु बम विकसित करने को लेकर प्रतिबद्ध है उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से ईरान के साथ किये गए परमाणु समझौते को रद्द करने का अनुरोध किया है मोसाद प्रमुख योसी कोहेन के बयान ने ईरान के परमाणु प्रोग्राम को लेकर चल रही वैश्विक चर्चा में एक प्रभावी आवाज बुलंद की है बताते चलें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा ईरान के साथ समझौते को  सख्त बनाने के लिए तय की गयी समय सीमा भी पास आ रही है

Image result for वैश्विक चर्चा

नेतन्याहू की तरह ट्रंप भी परमाणु समझौते के कटु आलोचक
इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू की तरह ट्रंप भी 2015 में हुए परमाणु समझौते के कटु आलोचक हैं ट्रंप ने ईरान के विरूद्ध प्रतिबंधों को  सख्त बनाने के लिए यूरोपीय राष्ट्रों के साथ समझौते पर पहुंचने के लिए मई तक की समय सीमा तय की है इन घटनाक्रमों के बीच कोहेन इस विषय में चर्चा कर रहे हैं  हाल ही में उन्होंने बंद कमरे में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ हुई मीटिंग में अपना आकलन बताया है मीटिंग में मौजूद रहे एक आदमी ने उक्त जानकारी दी

Loading...

ईरान के साथ परमाणु समझौता ‘बड़ी गलती’
कोहेन के इस विश्लेषण ने ईरान पर ट्रंप के लिए इजरायल के समर्थन को स्पष्ट कर दिया है कोहेन ने ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते को ‘‘बड़ी गलती’’ बतायी है उनका कहना है कि इस समझौते के कारण ईरान अपने परमाणु प्रोग्राम के लिए महत्वपूर्ण  जरूरी चीजें अपने पास रखने में सफलरहा है  कुछ सालों में प्रतिबंध हटने के बाद उसे फिर से प्रारम्भ कर सकता है

loading...

ईरान  अमेरिका 2015 ईरानी परमाणु समझौता या संयुक्त व्यापक कार्रवाई योजना (जेसीपीओए) पर ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में बातचीत कर सकते हैं खबर लेटर तेहरान टाइम्स के मुताबिक, ईरानी वार्ताकारों के एक करीबी सूत्र ने नाम उजागर न करने की शर्त पर बोला कि ईरानी राजनयिकों की एक टीम ईरान के परमाणु समझौते के कार्यान्वयन के विषय में नियमित बातचीतके लिए वियना दौरे पर हैं यह टीम अमेरिकी अधिकारियों सहित बातचीत में भाग ले रहे अन्य पक्षों के प्रतिनिधियों से मुलाकात करेगी

दोनों पक्ष ईरान पर लगे प्रतिबंध हटाने  अमेरिका द्वारा समझौते के उल्लंघन के विषय में दिए उदाहरण पर बातचीत करेंगे ईरान  अन्य राष्ट्रों ने, जिसमें अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, चाइना रूस शामिल हैं, के प्रतिनिधियों ने हालिया जेसीपीओए दौर का बातचीत वियना में शुक्रवार (16 मार्च) को आयोजित किया था जेसीपीओए के भीतर ईरान को अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध हटवाने के लिए अपने परमाणु प्रोग्राम को जरूर सीमित करना होगा

2015 में हुआ था परमाणु समझौता
ईरान, जर्मनी  संयुक्त देश सुरक्षा परिषद के पांच स्थाई सदस्यों – ब्रिटेन, चीन, फ्रांस, रूस अमेरिका के बीच जुलाई 2015 में जेसीपीओए समझौता हुआ था इस समझौते के तहत ईरान आर्थिक मदद  खुद पर लगे अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों को हटाने की एवज में अपने परमाणु हथियार कार्यक्रमों को रोकने पर सहमत हुआ था अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अक्टूबर 2017 में इस समझौते को रद्द करने का आह्वान करते हुए ईरान पर समझौते का कई बार उल्लंघन करने का आरोप लगाया था, जिसे ईरान ने सिरे से खारिज कर दिया था

Loading...
loading...