Saturday , September 22 2018
Loading...
Breaking News

ट्रेड वॉर की संभावना में सेंसेक्स में भारी गिरावट

मुंबई : अमेरिका  चाइना के बीच ट्रेड वार तेज होने की संभावना के बीच निर्बल वैश्विक रुख से बंबई शेयर मार्केट का सेंसेक्स बुधवार को 350 अंक से अधिक टूटकर बंद हुआ भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा मीटिंग की समाप्ति से पहले मार्केट भागीदारों ने कारोबार में सतर्कता बरती चाइनाने बुधवार को बोला कि वह अमेरिका के डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन की ओर से नये चीनी उत्पादों पर लगाए गए शुल्क के विरूद्ध कदम उठाएगा इससे कारोबारी धारणा प्रभावित हुई मौद्रिक समीक्षा मीटिंगके नतीजे पर भी कारोबारियों की नजर रही मीटिंग का परिणाम गुरुवार को घोषित किया जाएगा

Image result for ट्रेड वॉर की संभावना में सेंसेक्स में भारी गिरावट

पहले बढ़ने के बाद टूटा शेयर बाजार
बंबई शेयर मार्केट का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स बढ़त के साथ खुलने के बाद 33,505.53 अंक के हाई तक गया लेकिन, दोपहर के कारोबार में यह आकस्मित गिरकर 32,972.56 अंक के निचले स्तर पर आ गया कारोबार की समाप्ति पर सेंसेक्स 351.56 अंक यानी 1.05 फीसदी के नुकसान से 33,019.07 के स्तर पर बंद हुआ यह 23 मार्च के बाद सेंसेक्स की सबसे बड़ी गिरावट है उस दिन सेंसेक्स 409.73 अंक टूटा था नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 10,279.85 अंक के दिन के उच्चस्तर पर पहुंचने के बाद निगेटिव दायरे में आया यह 10,111.30 अंक के निचले स्तर तक आने के बाद अंत में 116.60 अंक यानी 1.14 फीसदी के नुकसान से 10,128.40 के स्तर पर बंद हुआ

Loading...

128 वस्तुओं पर अलावा आयात शुल्क
इससे पहले अमेरिका ने अपने यहां के फलों, मांस समेत 3 अरब डॉलर मूल्य की पर अलावा शुल्क लगाए जाने के चाइना के कदम को  अनुचित बताते हुए कड़ी निंदा की थी अमेरिका में इस्पात एल्युमीनियम पर शुल्क लगाने के बाद जवाबी कार्यवाही करते हुए चाइना ने यह कदम उठाया थाचाइना के सीमा शुल्क आयोग ने इस आशय का फैसला किया

loading...

अमेरिका में व्हाइट हाउस की उप- प्रवक्ता लिंडसे वाल्टर्स ने बोला था ‘चीन की सब्सिडी की नीति तथा अत्यधिक क्षमता इस स्थिति का प्रमुख कारण है ‘ वाल्टर्स ने कहा, निष्पक्ष रूप से होने वाले अमेरिकी निर्यात को निशाना बनाने के बजाय चाइना को अपनी अनुचित व्यापार गतिविधियों को रोकना होगा जो अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचा रही है  वैश्विक मार्केट को प्रभावित कर रहे हैं ‘ ट्रंप प्रशासन ने बोला था कि इस्पात  एल्यूमीनियम आयात पर शुल्क लगाया गया है क्योंकि इसे अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिये खतरा था वहीं चाइना के वाणिज्य मंत्रालय ने इसे विश्व व्यापार संगठन (WTO) के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करार दिया था

Loading...
loading...