X
    Categories: कारोबार

अमेरिका-चीन की ट्रेड वार से फिसला बाजार

प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 351 अंक की कमजोरी के साथ 33019 के स्तर पर  निफ्टी 116 अंक की कमजोरी के साथ 10128 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है.मार्केट की इस गिरावट के पीछे सबसे बड़ा कारण अमेरिका  चाइना के बीच ट्रेड वार की चिंता गहराना है.

ब्रोकर्स का मानना है कि घरेलू निवेशक भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा से पहले अपने पोर्टफोलियो में विस्तार करने से हिचक रहे हैं. बताते चलें कि RBI एमपीसी 4 अप्रैल से प्रारम्भ हो चुकी है. इसके नतीजे पांच अप्रैल को सामने आएंगे. कयास लगाए जा रहे हैं कि इस मीटिंग में भी अधिकतर एमपीसी सदस्य ब्याज दरों को यथावत रखने का निर्णय लेंगे.

Loading...

बाजार में गिरावट उस समय बढ़ी जब चाइना ने आज 108 अमेरिकी प्रोडक्ट्स जिनमें एयरक्राफ्ट, कार्स शामिल हैं पर नए टैरिफ लगा दिये हैं. संसार की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच ट्रेड वार की गर्मागर्मी से मार्केट में निर्बल रुझान देखने को मिला है.

loading...

ट्रंप प्रशासन ने मंगलवार को अमेरिका के इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी  ट्रांसपोर्ट एवं मेडिकल एरिया से जुड़े 1300 प्रोडक्ट्स पर 25 फीसद के टैरिफ की घोषणा थी, इसपर जवाबी कार्यवाही करते हुए चाइना ने अमेरिका के 5000 करोड़ रुपए के उत्पादों पर आयात शुल्क बढ़ाने का निर्णय किया है. वहीं चाइना अमेरिका से आयातित 106 उत्पादों पर अलावा आयात शुल्क लगाएगा. साथ ही चाइना ने अमेरिका से आयात होने वाले सामानों में जिनमें प्लास्टिक, एग्री प्रोडक्ट, ऑटो प्रोडक्ट, सोयाबीन,कार  केमिकल्स पर भी अलावा आयात शुल्क लगाने का निर्णय किया है.

30 शेयरों वाले सूचकांक सेंसेक्स ने आज 33505.53 का हाई छूआ था लेकिन दिन के कारोबार में आकस्मित आई बिकवाली के चलते यह 32972.56 के निम्न स्तर पर आ गया. इसके बाद यह 1.05 फीसद की कमजोरी के साथ 33019.07 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है. सेंसेक्स में ये गिरावट 23 मार्च के बाद से सबसे बड़ी गिरावट मानी जा रही है. 23 मार्च के सत्र में सेंसेक्स में 409.73 अंकों की गिरावट दर्ज की गई थी. वहीं निफ्टी का दिन का उच्चतम स्तर 10279.85 निम्नतम 10111.30 का रहा था. इसके बाद यह 1.14 फीसद की कमजोरी के साथ 10128 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है.

Loading...
News Room :

Comments are closed.