X
    Categories: अंतर्राष्ट्रीय

ब्राजील की अवाम सड़कों पर

ब्राजील के पूर्व राष्ट्रपति लुइज इनासियो लूला डा सिल्वा की बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका को वहां के लाखों नागरिकों ने खारिज करने की मांग की है इस मामले में लोगों ने सर्वोच्च कोर्ट पर दबाव बनाने के लिए राष्ट्र के कई बड़े शहरों में प्रदर्शन किया है इस याचिका से लूला को करप्शन मामले में दोषी सिद्ध होने के बाद कैद से बचने में कुछ मदद मिल सकती है ब्राजील राष्ट्र के सबसे बड़े शहर साओ पाओलो के पॉलिस्ता एवेन्यू में जोरदार विरोध प्रदर्शन देखने को मिला, जहां ब्राजीलियाई झंडे के साथ टी-शर्ट पहने प्रदर्शनकारियों ने पूर्व राष्ट्रपति को कारागार में डालने की मांग की है

सूत्रों के अनुसार ‘वेम प्रा रुआ’ (सड़कों पर उतरो) आंदोलन द्वारा आहूत विरोध प्रदर्शन के दौरान मंगलवार को ब्राजील के 27 राज्यों में से 20 से ज्यादा राज्यों के दर्जनों शहरों में मोर्चा निकाला गयायह आंदोलन 2015 में डिल्मा रोसेफ प्रशासन के दौरान करप्शन के विरूद्ध प्रमुखता से सामने आया था ब्राजील के अलग-अलग शहरों में रैली निकालने का उद्देश्य पूर्व राष्ट्रपति लूला को कारागार में डालने की मांग पर जोर देना था, जो सरकारी कंपनी पेट्रोब्रास से संबंधित घोटाले और करप्शन धनशोधन के मामले में दोषी पाए गए हैं

Loading...

इज इनासियो लूला डा सिल्वा का ब्राजील के राष्ट्रपति तौर पर कार्यकाल 1 जनवरी 2003 से लेकर 1 जनवरी 2011 तक का था जनवरी में उन्हें अपीलीय न्यायालय द्वारा 12 वर्ष कैद की सजा सुनाई गई थी

loading...
Loading...
News Room :