Wednesday , September 19 2018
Loading...

पाक व हिंदुस्तान के रिश्तों से जुड़ा एक Extra विचार

और अब पाक  हिंदुस्तान के रिश्तों से जुड़ा एक Extra विचार आज हिंदी फिल्मों की Actress नंदिता दास  पाक के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी की बात हर कोई कर रहा है क्योंकि, अलग-अलग पिच पर खड़े होकर ये दोनों एक ही टीम के लिए Batting कर रहे थे  वो टीम थी पाक की नंदिता दास Pakistan International Film Festival में भाग लेने के लिए कराची में थीं जहां उन्होंने बड़े फक्र से ये कहा, कि हिंदुस्तान में भय का माहौल है दूसरी भाषा में कहें, तो नंदिता दास के मुताबिक कलाकारों  लेखकों के लिए हिंदुस्तान में इस वक्त ‘भयावह वक्त’ चल रहा है

Image result for पाक व हिंदुस्तान के रिश्तों से जुड़ा एक Extra विचार

उनसे ये सवाल पूछा गया था, कि पाक के कलाकारों को हिंदुस्तान की फिल्म इंडस्ट्री में कार्य करने से क्यों रोका जाता है ?  उन्हें Visa क्यों नहीं दिया जाता ? इस सवाल का जवाब देते हुए, उन्होंने हंसते हुए कहा, कि पाकिस्तानी कलाकार Visa के लिए Apply तो करें कलाकारों की एकजुटता के सामने बड़ी से बड़ी Power को झुकना पड़ेगा यानी उनका निशाना सीधे-सीधे अपने ही राष्ट्र की गवर्नमेंटपर था सबसे पहले आप नंदिता दास का ये बयान सुनिए
नंदिता दास, वैसे तो हिंदुस्तान की फिल्म Actress हैं, लेकिन उनकी भाषा सुनकर ऐसा लग रहा था, कि उन्होंने पाक की फिल्म इंडस्ट्री Join कर ली है

Loading...

अब पाक के मशहूर क्रिकेटर शाहिद अफरीदी का Tweet देखिए  अफरीदी, कश्मीर घाटी में आतंकियों की मौत से बहुत दुखी हैं  आज दोपहर क़रीब 2 बजे उनकी ये पीड़ा Twitter पर देखने को मिली अफरीदी ने अपने Tweet में शोपियां  अनंतनाग में मारे गए 13 आतंकियों को ना सिर्फ बेगुनाह बताया बल्कि अलगाववादियों की आज़ादी की मांग को जायज़ ठहराते हुए, United Nations से इस मामले में दखल देने की बात कही वैसे आतंकियों  अलगाववादियों के प्रति पाक के क्रिकेटर्स  एक्टर्स का प्रेम सदियों पुराना है अब आप पाक के एक्टर Faisal Qureshi का ये बयान देखिए जो उन्होंने साल 2016 में एक Award Function के दौरान मंच पर खड़े होकर दिया था

loading...

वैसे ये भी एक दुर्भाग्य की बात है, कि हमारे राष्ट्र में ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है आपने हिंदुस्तान में कभी किसी एक्टर या क्रिकेटर को Award लेते हुए आतंकवाद जैसे मुद्दे पर बोलते हुए नहीं सुना होगा आपने हिंदुस्तान में किसी ऐसे एक्टर या क्रिकेटर को नहीं देखा होगा जो Award Function में आतंकवाद का मुद्दा उठाए क्योंकि पाक के बहुत सारे कलाकार इंडियन फिल्मों में कार्य करते हैं  हिंदुस्तान में उन्हें बहुत पसंद भी किया जाता है हिंदुस्तान के कुछ बुद्धिजीवी एक्टर डायरेक्टर्स अक्सर ये कहकर बच निकलते हैं कि आतंकवाद  पॉलिटिक्स को कला  कलाकारों से नहीं जोड़ना चाहिए 

पाकिस्तान द्वारा फैलाए जाने वाले आतंकवाद में वहां के कलाकारों का कोई भूमिका नहीं हैइसलिए उन पर कोई पाबंदी नहीं लगनी चाहिए यहां तक कि अगर किसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में अगर किसी इंडियन कलाकार से सवाल पूछा जाता है  तो वो जवाब देने से मना कर देते हैं लेकिन पाकमें ऐसा नहीं होता है वहां Award Functions के दौरान खुले आम कश्मीर पर बात की जाती है पाकके एक्टर Award भी लेते हैं  कश्मीर के अलगाववादियों के प्रति अपना समर्थन भी जताते हैं वहां कोई ये नहीं कहता कि कलाकारों को आतंकवाद या फिर कश्मीर जैसे मुद्दों से दूर रहना चाहिए

बल्कि वहां के एक्टर  खिलाड़ी ऐसे मंच का पूरा लाभ उठाते हैं  उन लोगों को समर्थन देने की बात कहते हैं जो कश्मीर को अशांत बनाने की प्रयास में लगे हैं हो सकता है, कि नंदिता दास भी शाहिद अफरीदी  Faisal Qureshi की बातों का समर्थन करती हों क्योंकि, इन दोनों की भाषा  नंदिता दास की भाषा में बोल भले ही अलग-अलग थे, लेकिन उसका भाव एक ही था  वो भाव था हिन्दुस्तान का विरोध करना इससे पहले आमिर खान ने भी बोला था कि उन्हें हिंदुस्तान में रहते हुए भय लगता है जब सवाल पूछा जाता है तो तमाम कलाकार जवाब देने से मना कर देते हैं

Loading...
loading...