Friday , November 16 2018
Loading...

आज होगा जगन्नाथ मंदिर के रत्न भंडार का निरीक्षण

पुरी : देश में कई ऐसे बड़े मंदिर हैं जहाँ मंदिरों में अकूत खज़ाना है ऐसे ही मंदिरों में 12 वीं सदी में बना ओडिशा का जगन्नाथ मंदिर भी है जहाँ के रत्न भंडार का आज 34 साल बाद निरीक्षण किया जाएगा श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एस जे टी ए ) के मुख्य प्रशासक पी के जेना ने यह जानकारी दी

Image result for 34 साल बाद आज होगा जगन्नाथ मंदिर के रत्न भंडार का निरीक्षण

उल्लेखनीय है कि श्री जगन्नाथ मंदिर के रत्न भंडार में देवी-देवताओं के बेशकीमती जेवर  ज्वेलरीरखे जाते हैं पिछली बार 1984 में इसका निरीक्षण किया गया था तब रत्न भंडार के 7 में से सिर्फ 3 चैंबरों को ही खोला गया था यह कोई नहीं जानता है कि अन्य चैंबरों में क्या रखा हुआ है आज बुधवार को 34 साल बाद फिर रत्न भंडार का निरीक्षण किया जाएगा

Loading...

इस बारे में श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एस जे टी ए ) के मुख्य प्रशासक पी के जेना ने बताया कि 10 सदस्यीय एक समिति द्वारा 4 अप्रैल को रत्न भंडार (कोषागार) के तल, छत  दीवार की भौतिक स्थिति का निरीक्षण किया जाएगा एस जे टी ए के मुख्य प्रशासक पी के जेना ने स्पष्ट बोला कि निरीक्षण के दौरान रत्न भंडार के भीतर रखे आभूषणों  अन्य बेशकीमती सामानों का आकलन नहीं किया जाएगा  बल्कि उसकी दीवारों  छतों का सिर्फ दृश्य निरीक्षण किया जाएगा यहाँ यह उल्लेख उचित है कि तिरुपति बालाजी  पद्मनाभ मंदिर में भी सोने  हीरे के जेवरात का खज़ाना है जो भक्तों द्वारा ईश्वर को अर्पित किया गया है

loading...
Loading...
loading...